यूपी में अफवाह की चिंगारी से भड़की आग

उत्तरप्रदेशमेंसांप्रदायिकहिंसाकीबढ़तीघटनाओंनेऊपरीहलकोंमेंखतरेकीघंटीबजादीहै.इंटेलिजेंसब्यूरो(आइबी)नेराज्यके''नाजुकहालात''केबारेमेंकेंद्रकोचेतायाहै.शुक्रवारकीरातगाजियाबादकेमसूरीइलाकेमेंहुईहिंसामेंछहलोगमारेगए.यहसंकेतहैकिराज्यसांप्रदायिकविस्फोटकेमुहानेपरहै.ऐसेमुहानेपरजिसमेंएकछोटीचिंगारीभीदंगाभड़कासकतीहै.

उत्तरप्रदेशमेंअखिलेशयादवकेनेतृत्ववालीसरकारबननेकेबादयहसातवांदंगाहै.आइबीनेकेंद्रकोसूचनादीहैकियूपीकीनाजुकस्थितिएकबड़ीचेतावनीबनसकतीहै.उसकेमुताबिक,ज्यादातरदंगोंकातौर-तरीकाएकजैसारहाहै—मामूलीसेमामलेमेंहुआस्थानीयविवादबड़ेपैमानेपरफैलगया.मसूरीहिंसाकीशुरुआतीजांचसेपताचलताहैकिकिसीनेजानबूझकरएकधार्मिकग्रंथकाअपमानकिया,उसपरआपत्तिजनकचीजेंलिखींऔरउसेखाससमुदायकीबहुलतावालेइलाकेमेंफेंकदिया.

गाजियाबादकेएसएसपीप्रशांतकुमारमानतेहैं,''जोहुआवहएकसाजिशकाहिस्साहै,जिसेहिंसाकेकईघंटेपहलेरचागयाथा.हमलावरघातकहथियारलिएघूमरहेथे,जिससेसंकेतमिलताहैकिवेपेशेवरअपराधीथे.''

उन्होंनेकहा,''हमइसेखुफियानाकामीमानतेहैं.मसूरीपुलिसथानाप्रभारीपी.के.सिंहकोनिलंबितकरदियागयाहै.हमनेलोकलइंटेलिजेंसयूनिट(एलआइयू)केतीनअधिकारियोंकोभीनिलंबितकरनेकीसिफारिशकीहै.इसघटनाकेसिलसिलेमेंअज्ञातहमलावरोंऔरअफवाहफैलानेवालोंकेखिलाफमामलादर्जकियागयाहै.''अबसपासरकारपरइसबातकादबावकाफीबढ़गयाहैकिवहप्रदेशमेंसौहार्द्रऔरकानून-व्यवस्थाकायमकरे.

गृहमंत्रालयकेनवीनतमआंकड़ोंसेखुलासाहोताहैकियूपीसरकारसांप्रदायिकहिंसासेप्रभावीतरीकेसेनिबटनेमेंनाकामरहीहै.पिछलेतीनसालमेंदेशमेंसबसेज्यादासांप्रदायिकघटनाएं(364)यूपीमेंहुईहैं,जिनमें64लोगमारेगएहैंऔर1,298घायलहुएहैं.यहांतककिप्रधानमंत्रीमनमोहनसिंहनेभीपिछलेहफ्तेराज्योंकेडीजीपीकोसंबोधितकरतेहुएयूपीऔरचारअन्यराज्यों(मध्यप्रदेश,महाराष्ट्र,कर्नाटकऔरकेरल)कोसांप्रदायिकहिंसाकेलिहाजसेअतिसंवेदनशीलबताया.

सांप्रदायिकघटनाओंसेसपाविरोधियोंकोसरकारपरहमलेकामौकामिलगयाहै.बसपानेआरोपलगायाहैकिसरकारमुसलमानोंकीरक्षाकरनेमेंनाकामसाबितहुईहै.हरकोईयहजानताहैकिसपाकोसत्तामेंवापसलानेमेंमुसलमानोंकीअहमभूमिकारहीहै.बसपाकेइसआरोपसेमुस्लिमसमुदायकेकुछलोगप्रभावितभीदिखतेहैंक्योंकिऐसामानाजारहाहैकिपिछलीमायावतीसरकारकेसमयकानून-व्यवस्थाकीहालतइससेबेहतरथी.

लेकिनसांप्रदायिकध्रुवीकरणकाबीजेपीकोफायदामिलतादिखरहाहै.जुलाईमेंहुएस्थानीयनिकायचुनावोंमेंबीजेपीकोअच्छेपरिणाममिलेहैं.उसनेकईबड़ेशहरोंजैसेगाजियाबाद,लखनऊ,कानपुर,मेरठ,आगरा,गोरखपुर,मुरादाबाद,अलीगढ़,झांसीऔरवाराणसीकेमेयरपदपरजीतहासिलकीहै.पार्टीकोविधानसभाचुनावोंकेअंतिमदौरमेंभीअच्छीसफलतामिलीथी,जोपश्चिमउत्तरप्रदेशकेमुस्लिमबहुलइलाकोंमेंहुएथे.

हालांकि सपाइसबातसेइनकारकरतीहैकिराज्यमेंकानून-व्यवस्थाकीगंभीरसमस्याहै.सपाप्रवक्ताराजेंद्रचौधरीकहतेहैं,''जैसेहीसपासत्तामेंआई,हमारेविरोधियोंनेचीखनाशुरूकरदियाकिराज्यमेंकानून-व्यवस्थाखत्महोगईहै.''वेकहतेहैं,''सांप्रदायिकताएकसामाजिकसमस्याहै.यहसिर्फ उत्तरप्रदेशकेमौजूदाशासनसेजुड़ीबातनहींहै.कोईभीपताकरसकताहैकिसांप्रदायिकतासेलडऩेमेंसपासबसेआगेरहीहै.''