वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी की जमानत को चुनौती देने वाली छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका खारिज

नयीदिल्ली,31मई(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेभ्रष्टाचारमामलेमेंछत्तीसगढ़पुलिसअकादमीकेनिलंबितनिदेशकगुरजिंदरपालसिंहकोमिलीजमानतकोचुनौतीदेनेवालीछत्तीसगढ़सरकारकीयाचिकामंगलवारकोखारिजकरदी।न्यायालयनेकहाकिउच्चस्तरीयअधिकारीकोसंविधानमेंनिहितअधिकारोंसेवंचितनहींकियाजासकता।न्यायमूर्तिबी.आर.गवईऔरन्यायमूर्तिहिमाकोहलीकीअवकाशकालीनपीठनेछत्तीसगढ़उच्चन्यायालयकेआदेशकेखिलाफदाखिलराज्यसरकारकीअपीलखारिजकरतेहुएकहाकियहयाचिकाराज्यकीपूर्णतय:अनुचितकवायदहै।पीठनेकहा,''जमानतयाचिकापरविचारकरतेसमययाचिकाकर्ताकीहैसियतपरविचारनहींकियाजाता।जिसतरहएकसामान्यनागरिकसंविधानमेंनिहितअपनेअधिकारोंकाहकदारहैं,ठीकउसीतरहएकउच्चस्तरीयअधिकारीकोसंविधानकेतहतमिलेअधिकारसेवंचितनहींकियाजासकता।''पीठनेकहा,''आयसेअधिकसंपत्तिकेमामलेमें,अधिकांशसबूतदस्तावेजीहैंऔरऐसेसबूतोंकेसाथछेड़छाड़काकोईसवालहीनहींउठता।किसीभीमामलेमें,उच्चन्यायालयनेअभियोजनकेहितमेंकड़ीशर्तेंतयकररखीहैं।इसयाचिकाकाकोईआधारनहींहैऔरइसेखारिजकियाजाताहै।''राज्यसरकारकीओरसेवरिष्ठअधिवक्तामुकुलरोहतगीऔरवकीलसुमीरसोढ़ीपेशहुए।रोहतगीनेकहाकिसिंहअतिरिक्तपुलिसमहानिदेशककेरैंककेएकउच्चपदस्थपुलिसअधिकारीहैंऔरसबूतोंसेछेड़छाड़करनेएवंगवाहोंकोप्रभावितकरनेमेंशामिलरहेहैंतथाउच्चन्यायालयनेइसबातकीअनदेखीकीहै।उच्चन्यायालयनेसिंहको12मईकोजमानतदीथी।1994बैचकेआईपीएसअधिकारीसिंहभारतीयजनतापार्टीकीसरकारकेदौरानरायपुर,दुर्गऔरबिलासपुरकेमहानिरीक्षकरहचुकेहैं।वहतीनआपराधिकमामलोंमेंजांचकासामनाकररहेहैं।उन्हेंछत्तीसगढ़पुलिसअकादमीकेनिदेशककेपदसेनिलंबितकरदियागयाथाऔरदेशद्रोह,भ्रष्टाचारएवंजबरनवसूलीसेसंबंधिततीनमामलोंमेंआरोपीबनायागया।