वीवीपीएटी की पर्चियों के पांच गुना अधिक मिलान से मतगणना ज्यादा लंबित नहीं होगी : आयोग

नयीदिल्ली,आठअप्रैल(भाषा)वीवीपीएटीकीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनेकेबारेमेंउच्चतमन्यायालयकेफैसलेकेबादमतगणनाकेसमयमेंमहजतीनसेचारघंटेतकअतिरिक्तसमयलगेगा।न्यायालयनेसोमवारकोविपक्षीदलोंकीयाचिकापरफैसलासुनातेहुयेप्रत्येकविधानसभाक्षेत्रकेकिन्हींपांचमतदानकेन्द्रोंकीवीवीपीएटीमशीनोंकीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनेकाचुनावआयोगकोआदेशदियाहै।मौजूदाव्यवस्थामेंप्रत्येकविधानसभाक्षेत्रकेकिसीएकमतदानकेन्द्रकीवीवीपीएटीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकियाजाताहै।आयोगनेअदालतकेआदेशकोतत्कालप्रभावसेलागूकरनेकाभरोसाजतायाहै।अदालतकेफैसलेकेबादआयोगकोअबदेशमेंकुल4120विधानसभाक्षेत्रोंके20600मतदानकेन्द्रोंकीवीवीपेटपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनापड़ेगा।आयोगकेसूत्रोंनेबतायाकिअदालतकेफैसलेसेमतगणनाकेसमयमेंबहुतअधिकइजाफानहींहोगा।आयोगकेएकवरिष्ठअधिकारीनेबताया,‘‘हालांकिउम्मीदवारईवीएमकीमतगणनाकेआधारपरचुनावपरिणामसेअवगतहोजायेंगे,लेकिनवीवीपेटकीपर्चियोंकाईवीएमसेमिलानमेंलगनेवालेअतिरिक्तसमयकेकारणचुनावपरिणामकीआधिकारिकघोषणामेंदोसेतीनघंटेकाविलंबहोगा।’’उन्होंनेबतायाकिकिन्हींपांचमतदानकेन्द्रोंकीवीवीपीएटीकीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनेकेलियेअगरचुनावआयोगपांचअलगदलोंकोतैनातकरलेताहैतोचुनावपरिणामकीआधिकारिकघोषणामेंअतिरिक्तसमयनहींलगेगा।पांचसेकमदलतैनातकियेजानेपरहीअतिरिक्तसमयलगेगा।उल्लेखनीयहैकिदेशमेंकुल4120विधानसभाक्षेत्रोंमें10.35लाखमतदानकेन्द्रहैं।एकमतदानकेन्द्रपरमतदाताओंकीसंख्याऔसतन800से2500केबीचहोतीहै।पांचकेन्द्रशासितक्षेत्रों(चंडीगढ़,दमनएवंदीव,लक्षद्वीप,अंडमानएवंनिकोबारऔरदादरएवंनगरहवेली)मेंविधानसभानहींहोनेकेकारणआयोगकोइनक्षेत्रोंसे25मतदानकेन्द्रोंकीभीवीवीपीएटीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनाहोगा।पूर्वमुख्यचुनावआयुक्तोंनेउच्चतमन्यायालयकेफैसलेकास्वागतकरतेहुयेइसेमतदाताओंमेंस्वतंत्रऔरनिष्पक्षचुनावप्रणालीकेप्रतिविश्वासबहालीकीदिशामेंमददगारबताया।पूर्वमुख्यचुनावआयुक्तएसवाईकुरैशीनेकहाकिअदालतकेफैसलेसेचुनावप्रक्रियाकेप्रतिमतदाताओंमेंविश्वासबहालीकेप्रयासोंकोबलमिलेगा।कुरैशीने50फीसदीवीवीपीएटीपर्चियोंकाईवीएमकेमतोंसेमिलानकरनेपरचुनावपरिणाममेंदेरीहोनेकीआयोगकीदलीलकोगलतबताया।पूर्वमुख्यचुनावआयुक्तनसीमजैदीनेभीकहा,‘‘यहअच्छाफैसलाहै।इससेलोगोंकाचुनावप्रक्रियामेंविश्वासबढ़ेगा।’’पूर्वमुख्यचुनावआयुक्तवीएससंपतनेकहाकिन्यायालयकेफैसलेसेईवीएमकीविश्वसनीयताकोलेकरजारीविवादथमेगा।उन्होंनेकहाकिइससेमतगणनाकासमयबढ़नेकीआशंकायेंगलतसाबितहोंगी।