Vidhan sabha election 2022: रोड शो और रैलियों पर प्रतिबंध बरकरार लेकिन छोटी जनसभाओं में मिली और ढील

जागरणब्यूरो,नईदिल्ली।कोरोनासंक्रमणकीस्थितिमेंतेजीसेहोरहेसुधारकोदेखतेहुएचुनावआयोगनेउत्तरप्रदेश,पंजाबसहितपांचराज्योंमेंहोरहेविधानसभाचुनावकेप्रचारमेंछोटीसभाओंवइनडोरबैठकोंमेंऔरढीलदीहै।हालांकिरोड़शोऔररैलियोंपरपहलेजैसाहीप्रतिबंधबरकराररखाहै।इसकेतहतखुलेहोनेवालीछोटीजनसभाओंमेंअबमैदानकीकुलबैठकक्षमताकेअधिकतम30फीसदलोगोंकेशामिलहोनेकीअनुमतिरहेगी,जबकिइनडोरहॉलमेंहोनेवालीबैठकोंमेंहॉलकीकुलबैठकक्षमताके50फीसदलोगोंकेशामिलहोसकेंगे।बैठकक्षमताकानिर्धारणजिलानिर्वाचनअधिकारीकरेंगे।

चुनावआयोगनेराजनीतिकदलोंकोचुनावप्रचारमेंकुछऔरढीलदेनेकायहफैसलाराज्योंकेमुख्यसचिववस्वास्थ्यविशेषज्ञोंकेसाथकोरोनासंक्रमणकीस्थितिकीसमीक्षाकेबादलियाहै।जिसमेंबतायागयाहैकिपांचोंचुनावीराज्योंमेंसंक्रमणकीदरतेजीसेघटीहै।रिपोर्टकेमुताबिकइनपांचराज्योंमें22जनवरी2022कोकोरोनाके32हजारसेज्यादामामलेथेजोपांचफरवरीतकघटकरसिर्फसातहजाररहगएहै।

हालांकिइसकेबादभीआयोगनेसभीराजनीतिकदलोंऔरस्थानीयप्रशासनकोपूरीसतर्कताबरतनेकेनिर्देशदिएहै।जिसकेतहतखुलेमैदानवइनडोरहॉलमेंहोनेवालीसभाओंऔरबैठकोंमेंलोगोंकेआनेऔरजानेकेलिएअलग-अलगगेटरखनेहोंगे,ताकिज्यादाभीड़जमानहोपाए।

आयोगनेइसकेसाथहीमास्कऔरकोरोनासेबचावकेतयमानकोंकेमुताबिकशारीरिकदूरीकाभीपालनसुनिश्चितकरानेकेनिर्देशदिएहै।सभीबैठकवसभाओंमेंथर्मलस्क्रीनिंगवसाफ-सफाईकाभीखासध्यानरखनेकेलिएकहागयाहै।आयोगकेइसकेसाथहीसभीचुनावीराज्योंसेमैदानकीआनलाइनबुकिंगसुविधाभीशुरूकरनेकेलिएकहाहै,जिसकीबुकिंगपहलेआओ-पहलेपाओकेआधारपरकीजाएगी।हालाकिइसढीलकेसाथहीआयोगनेडोर-टू-डोरप्रचारमेंअधिकतम20लोगोंकेशामिलहोनेहोनेकीअनुमतिकोपहलेकीतरहबरकराररखाहै।

इसकेसाथहीचुनावोंकेऐलानकेसमयदिएगएनिर्देशोंकोभीयथावतरखाहै।गौरतलबहैकिचुनावआयोगनेछोटीसभाओंवइनडोरबैठकोंकीवैसेतोपहलेहीइजाजतदेरखीहै,लेकिनअबतकखुलेमैदानोंमेंहोनेवालीछोटीसभाओेंकेलिएअधिकतमएकहजारलोगोंकीऔरइनडोरमेंहोनेवालीबैठकोंमेंअधिकतमपांचसौलोगोंकेहीशामिलहोनेकीअनुमतिथी।

घर-घरजाकरप्रचारकरनेवालोंकीसंख्यानहींबढ़ी

दूसरीओरआयोगनेघर-घरजाकरप्रचारकरनेकेलिएलोगोंकीअधिकतमसंख्या20निर्धारितकीगईहैजोपहलेकीतरहहीरहेगी।प्रचारपररातआठबजेसेलेकरसुबहआठबजेतकप्रतिबंधपहलेकीतरहलागूरहेगा।

स्टारप्रचारकोंकोपर्याप्तसुरक्षामुहैयाकरानेकानिर्देश

बतादेंकिकलहीआयोगनेसभीराज्योंकेमुख्यसचिवोंकोराजनीतिकदलोंकेस्टारप्रचारकोंकोचुनावकेदौरानउनकेराज्योंमेंपर्याप्तसुरक्षामुहैयाकरानेकानिर्देशभीदियाहै।आयोगकायहनिर्देशएआईएमआईएमप्रमुखअसदुद्दीनओवैसीपरहुएहमलेकेकुछदिनोंबादआयाहै।आयोगनेअपनेपत्रमेंकहाहैकियहउसकेसंज्ञानमेंलायागयाहैकिपांचराज्योंमेंविधानसभाचुनावकेचलतेराजनीतिकदलोंकेस्टारप्रचारकोंकोसुरक्षासेजुड़ीसमस्याओंकासमानाकरनापड़रहाहै।आयोगनेकहाकिस्टारप्रचारकचुनावीप्रक्रियाकेअभिन्नअंगहोतेहैंऔरउनकीसुरक्षाकोसर्वाधिकमहत्वदियाजानाचाहिए।

पांचराज्योंमेंहोनेहैविधानसभाचुनाव

गौरतलबहैकिदेशमेंउत्तरप्रदेशसमेतपांचराज्योंमेंविधानसभाचुनावहोनेहै।हालांकिकोरोनाकेचलतेबड़ेराज्योंमेंचुनावकरानाचुनौतीपूर्णहै।यूपीमेंसबसेज्यादा403सीटोंपरचुनावहोनाहै।उत्तराखंड,गोवा,मणिपुरऔरपंजाबमेंभीविधानसभाचुनावोंकाऐलानहोचुकाहै।