वाराणसी के सोशल एक्टिविस्ट ने NHRC में की थी शिकायत, रजिस्टर्ड किया गया केस

वाराणसीऔरउत्तरप्रदेशकेअन्यजिलोंमेबढ़तेप्रदूषणकाराष्ट्रीयमानवाधिकारआयोग(NHRC)नेसंज्ञानलियाहै।पर्यावरणकेक्षेत्रमेंकामकरनेवालीसंस्थाक्रांतिफाउंडेशनकेअध्यक्षइंजीनियरराहुलकुमारसिंहकीशिकायतपरसंज्ञानलेतेहुएराष्ट्रीयमानवाधिकारआयोगनेकेसरजिस्टर्डकियाहै।आयोगजल्दहीइसशिकायतपरसुनवाईकीतिथिनिर्धारितकरेगा।

प्रदेशकेसभीजिलोंमेंAQIखराब

राहुलकुमारसिंहनेशनिवारकोदैनिकभास्करकोबतायाकिकाशीहीनहींबल्किउत्तरप्रदेशकेलगभगसभीजिलोंमेएअरक्वालिटीइंडेक्स(AQI)लगातारखराबचलरहाहै।कहीं-कहींतोयहआंकड़ा400केआसपासबनाहुआहैजोकिबेहदहीखराबहै।लगातारजहरीलीहवाकेकारणआमजनकोभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।बच्चोंऔरबुजुर्गोंकीहालतसबसेज्यादाखराबहै।हालतयहहैकिघरसेबाहरनिकलतेहीलोगोंकीआंखोंमेजलनऔरसिरदर्दकीशिकायतआमबातहोगईहै।सड़कोंपरजामलगाहोनेपरलोगोंकोदमघुटनेजैसाएहसासहोताहै।अस्पतालोंमेंसांसलेनेमेंदिक्कत,आंखोंमेजलनऔरअस्थमाकीशिकायतवालेरोगियोंकीसंख्यामेतेजीसेबढ़ोतरीहुईहै।

प्रदूषणकीइतनीखराबस्थितिकेबावजूदउत्तरप्रदेशसरकारइसविषयपरकोईठोसकार्रवाईनहींकररहीहै।उत्तरप्रदेशसरकारकेपासप्रदूषणकोकमकरनेकाकोईएक्शनप्लानभीनहींहै।प्रदेशसरकारनेआमजनताकोउनकेहालपरछोड़दियाहैऔरमौसमबदलनेकाइंतजारकररहीहै।

हरसालवहींस्थितिलेकिनकोईप्लाननहीं

राहुलकुमारसिंहनेकहाकिहरवर्षइसतरहकीस्थितिआनेकेबावजूदप्रदेशसरकारद्वाराकोईठोसप्लाननहींबनायाजाताहै।इसकेचलतेआमजनकोजहरीलीहवामेंसांसलेनेकेलिएमजबूरहोनापड़ताहै।उत्तरप्रदेशमेंनिर्माणकार्योंमेंप्रदूषणकोकमकरनेकेमानकोंकाबिल्कुलभीपालननहींहोरहाहै।इसकेअलावाधूलकोकमकरनेकेलिएपानीकेछिड़कावजैसीछोटीव्यवस्थातककाइंतजामप्रदेशसरकारनहींकररहीहै।

प्रदेशसरकारकोतुरंतनिर्माणकार्योंमेंकटौतीऔरमानकोंकापालनसुनिश्चितकरानाचाहिए।इसकेअलावाविद्यालयोंऔरकार्यालयोंकेकार्यदिवसोंमेभीआवश्यककटौतीकरनीचाहिए।सड़कोंपरट्रैफिककोकमकरनेऔरजामनलगनेकीव्यवस्थासख्तीसेलागूकरनीचाहिए।इसकेअलावासड़कोंपरसमय-समयपरपानीकाछिड़कावभीसुनिश्चितकरनाहोगा,जिससेहवामेंउड़नेवालीधूलकीमात्राकोकमकियाजासके।