तीन दशक बाद घरेलू बिजली से रोशन हुई चंदनपुरी

जागरणसंवाददाता,समालखा:दशकोंसेघरेलूबिजलीऔरपब्लिकहेल्थकेपानीसेमहरूमचंदनपुरीकीसमस्यादूरहोगईहै।घरेलूबिजलीसप्लाईघरोंमेंपहुंचचुकीहै।पब्लिकहेल्थसेनलकूपभीमंजूरहोचुकाहै।केवलटेंडरलगनाशेषहै।अगलेमाहसेग्रामीणोंकीपानीसमस्याभीदूरहोजाएगी।

चंदनपुरी,नामुंडापंचायतसेकरीबतीनकिमीदूरबसाहै।दशकोंपहलेगांवकेतीन-चारपरिवारकेलोगवहांजाकरबसेथे।अबवहांलोगोंकीतादादसवासौकेकरीबपहुंचचुकीहै।निर्जनस्थानपरहोनेसेवहांपानीऔरबिजलीकीसुविधानहींथी।लोगखेतकीबिजलीऔरपानीपरनिर्भरथे।खेतकीलाइटखराबहोनेपरलोगोंकोकईदिनोंतकपरेशानीहोतीहै।समाजसेवीयुवकअंकितशर्माऔरग्रामीणोंकीपहलसेगांवकोघरेलूबिजलीनसीबहुई।

ग्रामीणओमदास,सतबीर,संदीप,प्रताप,अंकितशर्माकहतेहैंतीनदशकबादग्रामीणोंकीमुरादपूरीहुईहै।गांवकोघरेलूबिजलीनसीबहुई,जबकिपानीकेनलकूपकोमंजूरीमिली।आंधी-तूफानऔरबरसातमेंखेतकीबिजलीकई-कईदिनोंतकदर्शननहींदेतीथी।बच्चोंकीपढ़ाईसहितघरेलूकार्यप्रभावितहोतेथे।

महिलाओंऔरबच्चोंकोदूर-दराजकेनलकूपोंसेपानीढोकरलानापड़ताथा।रातमेंपानीकीजरूरतहोनेसेदूसरेसेमांगनापड़ताथा।गरीबबस्तीहोनेसेलोगोंकेपासअपनासबमर्सिबलभीनहींथा।पंचायतकीबेरुखीसेगांवमेंमूलभूतसुविधाओंकीकमीथी।बिजलीनिगमकेएसडीओरविकुमारकहतेहैंकिपाससेगुजररहीलाइनसेजोड़करगांवकोघरेलूसप्लाईदेदीगईहै।

वहींपब्लिकहेल्थकेएसडीओकाकहतेहैंकिनलकूपपासहोगयाहै।टेंडरलगानेकाकामचलरहाहै।जल्दहीनलकूपलगवादियाजाएगा।