सीलिंग के विरोध में सड़क पर उतरे दिल्ली के लाखों व्यापारी, बाजार बंद

दिल्लीमेंएमसीडीकीओरसेकीजारहीसीलिंगकेविरोधमेंमंगलवार यानिकीआजदिल्लीकेलाखोंव्यापारीसड़कपरउतरआएहैं. दिल्लीमेंतमाममार्केटबंदहोगएहैं.सड़कोंपरजामलगगयाहै.खासबातयेहैकिइसबंदकासत्ताधारीआमआदमीपार्टीभीसमर्थनकररहीहै.इससेपहलेरविवारकोइससंबंधमें'आप'केपार्टीकार्यालयमेंसांसदों,विधायकों,पार्षदोंऔरसंगठनकेपदाधिकारियोंकीमीटिंगभीहुई.

मीटिंगकेबादरविवारकोपार्टीकेवरिष्ठनेताऔरदिल्लीसंयोजकगोपालरायनेबतायाथाकि,''दिल्लीकेव्यापारियोंकेविरोधकेबावजूदबीजेपीशासितएमसीडीसीलिंगकेमाध्यमसेव्यापारियोंकाधंधाबंदकरनेऔरमज़दूरोंकारोज़गारछीननेकासिलसिलाजारीहै.अबबीजेपीकीकेंद्रसरकारनेएफ़डीआईलागूकरदिल्लीकेव्यापारियोंकीदुकानेंबंदकरनेकाइंतज़ामकरदियागयाहै.''

29जनवरीको'आप'करेगीसंसदमार्च

वहीं,मीटिंगमेंयेभीतयहुआहैकि23जनवरीकेबंदकेसमर्थनकेबाद29जनवरीकोव्यापारियोंकेसाथआमआदमीपार्टीविरोधस्वरूपसंसदमार्चभीकरेगी.दरअसल,इसीदिनसेसंसदकाबजटसत्रशुरूहोरहाहै.इसतरहसेआमआदमीपार्टीसीलिंगकेमुद्देपरएमसीडीमेंकाबिजबीजेपीकोकड़ीटक्करदेनेकेमूडमेंहैं.

सीलिंगकेखि‍लाफAAPनेजारीकियाथापोस्टर

आमआदमीपार्टीनेबीजेपीकोव्यापारीविरोधीबतातेहुएएकपोस्टरभीजारीकियाथा.पार्टीनेताओंनेबीजेपीपरदिल्लीकेव्यापारऔररोजगारकोबर्बादकरनेकाआरोपलगायाथा.पोस्टरमेंसीलिंग,एफडीआई,नोटबंदीऔरजीएसटीकाविरोधकियागया.हालहीमेंदिल्लीविधानसभामेंभीविधायकोंनेएफडीआईकेखिलाफप्रस्तावपासकियाथाऔरसीलिंगकेखिलाफएमसीडीसेजवाबभीमांगाथा.

क्योंहोरहीहैसीलिंग?

दरअसल,दिल्लीमेंनिर्माणकार्योंकेलिएएमसीडीसेइजाजतलेनीपड़तीहै.राजधानीकेअलग-अलगइलाकोंमेंअवैधनिर्माणकीशिकायतोंकेबाददिल्लीहाईकोर्टने2005मेंएक्शनकाआदेशदियाथा.एमसीडीकालचीलारवैयादेखकरमामलासुप्रीमकोर्टकेपासपहुंचा.

सुप्रीमकोर्टने2006मेंअवैधनिर्माणकीसीलिंगकरनेकेआदेशजारीकिए.इसकेबाददुकानोंयाकमर्शियलप्रॉपर्टीकोसीलिंगसेबचानेकेलिएसरकारनेकन्वर्जनचार्जकाप्रावधानकिया.कारोबारियोंनेयेचार्जअदाकरनेमेंभीलापरवाहीदिखाई.जिसकेबादसुप्रीमकोर्टनेऐसीदुकानोंयाप्रॉपर्टीकोसीलकरनेकाआदेशदियाऔरइसकेलिएएकमॉनिटरिंगकमेटीकागठनकिया.अबमॉनिटरिंगकमेटीकीदेखरेखमेंऐसीदुकानोंकोसीलकियाजारहाहै,जिन्होंनेकन्वर्जनचार्जजमानहींकरायाहै.

कन्वर्जनचार्जनदेनेवालोंकानिर्माणअवैधहोनेपरउसेगिरानेकाभीआदेशहै.नगरनिगमकीइसकार्रवाईकोमास्टरप्लान2021काहिस्साबतायाजारहाहै.इसकेतहतखानमार्केटऔरडिफेंसकॉलोनीजैसेपॉशइलाकोंमेंकार्रवाईकीजारहीहै.जिससेव्यापारियोंपरसंकटआगयाहै.

कॉन्फेडरेशनऑफआलइंडियाट्रेडर्स(कैट)नेबंदकीघोषणाकरतेहुएकहाहैकिसुप्रीमकोर्टकेआदेशकीआड़मेंदिल्लीनगरनिगमकानून1957केमूलभूतप्रावधानोंकोताकपररखसीलिंगकीकार्रवाईकीजारहीहै.

विधानसभामेंभीउठामुद्दा

दिल्लीमेंचलरहेसीलिंगअभियानपरजारीविवादकाअसर15जनवरीकोविधानसभामेंभीदेखनेकोमिलाथा.आपबीजेपीविधायकोंनेएकदूसरेपरआरोप-प्रत्यारोपलगातेहुएनारेबाजीकीजिससेदोघंटेमेंकार्यवाहीचारबारस्थगितहुईथी. विपक्षकेदोविधायकोंकोमार्शलोंनेबाहरतकनिकालदियाथा.