सिब्बल ने कहा, ये ट्रस्टी हैं, कैसे वे हमें हमारा कानूनी धन निकालने नहीं दे सकते। स्थिति तो अब बद से बद्तर हो गयी है।

उन्होंनेकहाकिसरकारकोपूर्वोत्तर,हिमाचलप्रदेशऔरछत्तीसगढ़केनक्सलप्रभावितबक्सरजैसेदूरदराजइलाकोंमेंरहनेवालेलोगोंकीचिंतानहींहै।इनइलाकोंमेंलोगोंकोएटीएमकेलिये20किलोमीटरतकचलनापड़ताहै।सिब्बलजबकेन्द्रकीखामियोंऔरइसमामलेमेंअभीतकउठायेगयेकदमोंकाजिक्रकररहेथेतभीअटार्नीजनरलनेकहा,हमेंअभीकोईस्पष्टीकरणदेनेकीजरूरतनहींहैक्योंकिअभीयहअंतरिमअर्जीहैजिसपरसुनवाईहोनीहै।केन्द्रकीअर्जीपरविचारकरनेकोलेकरन्यायालयकीअनिच्छाकोदेखतेहुयेरोहतगीनेकहा,हमस्थानांतरणयाचिकादायरकरेंगे।इसमामलेमेंअब25नवंबरकोआगेसुनवाईहोगी।केन्द्रसरकारनेशीर्षअदालतसेअनुरोधकियाहैकिविमुद्रीकरणकेमसलेपरशीर्षअदालतकेअलावाविभिन्नउच्चन्यायालयोंऔरदूसरीअदालतोंमेंइसमसलेपरकिसीभीकार्यवाहीपररोकलगाईजायेक्योंकिऐसानहींहोनेपरबहुतअधिकभ्रमकीस्थितिपैदाहोजायेगा।शीर्षअदालतने15नवंबरकोविमुद्रीकरणसंबंधीसरकारकीअधिसूचनापररोकलगानेसेइंकारकरदियाथालेकिनउसनेजनताकोहोरहीअसुविधाओंकोकमकरनेकेलियेउठायेगयेकदमोंकेबारेमेंसरकारसेकैफियतमांगीथी।न्यायालयमेंचारजनहितयाचिकाओंमेंसेदोदिल्लीकेवकीलविवेकनारायणशर्माऔरसंगमलालपाण्डेनेदायरकीहैंजबकिदोअन्ययाचिकायेंएसमुथुकुमारऔरआदिलअल्वीनेदायरकीहैं।इनयाचिकाओंमेंआरोपलगायागयाहैकिसरकारकेअचानकलियेगयेइसफैसलेनेअराजकताकीस्थितिपैदाकरदीहैऔरआमजनताकोपरेशानीहोरहीहै।याचिकाओंमेंवित्तमंत्रालयकेआर्थिकमामलोंकेविभागकीअधिसूचनाकोनिरस्तकरनेयाकुछसमयकेलियेस्थगितकरनेकाअनुरोधकियागयाहै।