रोज वार्ता कर बनाया जाएगा नगा समझौते को लागू करने का रास्ता, सरकार की ओर से शामिल होंगे दो अधिकारी

नईदिल्ली,पीटीआइ।उत्तर-पूर्वकीदशकोंपुरानीनगासमस्याकेसमाधानकेलिएहुएसमझौतेकोलागूकरनेकेवास्तेसरकारऔरएनएससीएन-आइएमकेशीर्षनेताओंकेबीचरोजानावार्ताहोगी।बैठकमेंकेंद्रसरकारकीओरसेइंटेलीजेंसब्यूरोकेदोवरिष्ठअधिकारीभागलेंगे।नगालैंडकेराज्यपालऔरसरकारकीओरनियुक्तवार्ताकारआरएनरविफिलहालइसबैठकसेदूरहैं।एनएससीएन-आइएमनेताओंनेआरोपलगायाथाकियेदोनोंउनकेबीचफूटडालनेकाप्रयासकररहेहैं।यहवार्तातीनअगस्त,2015कोहुएसमझौतेकोलागूकरनेकेलिएहोरहीहै।

एनएससीएन-आइएमकीमांगहैकिनगालैंडकेलिएअलगसंविधानऔरअलगझंडेकाप्रावधानकियाजाए।लेकिनइनदोनोंमांगोंपरअभीकोईफैसलानहींहुआहै।इससहितकुछऔरमांगोंपरफैसलाहोनेकेबादनगासंगठनकेंद्रसरकारकेराजनीतिकलोगोंसेवार्ताकरेगा।केंद्रसरकारऔरएनएससीएन-आइएमकेबीच18सालचली80चरणोंकीवार्ताकेबादतीनअगस्त,2015कोप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकीउपस्थितिमेंसमझौताहुआथा।

समझौतेपरकेंद्रसरकारकीओरसेनियुक्तवार्ताकारआरएनरविऔरनगासंगठनकेमहासचिवथुइंगालेंगमुइवानेदस्तखतकिएथे।ज्ञातहो,पांचअगस्त,2019कोजम्मू-कश्मीरसेअनुच्छेद370हटाकरउसेदियागयाविशेषसंवैधानिकदर्जाखत्मकियागयाथा।इसविशेषदर्जेकेचलतेजम्मू-कश्मीरकेलिएअलगझंडेकाभीप्रावधानथा।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीऔरगृहमंत्रीअमितशाहकईमौकोंपरएकदेशमेंएकसंविधानऔरएकझंडाहोनेकीबातकहचुकेहैं,इसलिएनगानेताओंकीअलगसंविधानऔरअलगझंडेकीमांगमानेजानेकोलेकरसंदेहहै।