राम बाई का दबदबा

वहमध्यप्रदेशकेबुंदेलखंडकेबदनामइलाकोंसेताल्लुकरखतीहैं.उनकापरिवारकथितरूपसेनकेवलइसइलाकेकेमुनाफेवालेव्यवसायोंकोनियंत्रितकरताहैबल्किराज्यमेंआधिकारिकट्रांसफरपोस्टिंगपरभीउसकादबदबाहै.सत्तामेंचाहेकोईभीपार्टीहो,इसपरिवारकेविशेषाधिकारमेंरत्तीभरकमीनहींआती.पथरियाकीविधायकरामबाईकीकमलनाथकीअगुवाईवालीपिछलीकांग्रेससरकारमेंजोधमकहुआकरतीथी,भाजपाकीनई-नवेलीसरकारमेंभीवहबदस्तूरजारीहै.बहुजनसमाजपार्टी(बसपा)कीयहनेताराज्यमेंकिसीभीसत्तारूढ़सरकारकेलिएइतनीमहत्वपूर्णक्योंहैंऔरहरसरकारउन्हेंइतनामहत्वक्योंदेतीहै?

रामबाईकेप्रभावकाएककारणमध्यप्रदेशविधानसभामेंदोनोंमुख्यदलोंकेविधायकोंकीसंख्याहै.2018केविधानसभाचुनावमेंकांग्रेस114विधायकोंकेसाथसबसेबड़ीपार्टीकेरूपमेंउभरीऔरउसनेसमाजवादीपार्टी(सपा)केएकविधायक,चारनिर्दलीयऔररामबाईसहितदोबसपाविधायकोंकेसमर्थनसेसरकारबनाई.

कमलनाथसरकारकोबचाएरखनेकेलिएअपनीअहमियतकोभांपतेहुए40सालकीरामबाईनेजल्दहीमुखरहोनाशुरूकरदिया.अगरउनकी'मांगेंपूरीनहींहुईंतोअधिकारियोंकोअंजामभुगतनेकोतैयाररहने'कीधमकीदेतेउनकेवीडियोसामनेआए.कमलनाथसरकारनेउन्हेंएक'बी'टाइपबंगलाआवंटितकिया,जोआमतौरपरमंत्रियोंऔरवरिष्ठनौकरशाहोंकोआवंटितहोताथा.लेकिनरामबाईकेलिएसबसेबड़ाकलंकतोअभीआनाबाकीथा.

15मार्च,2019को,दमोहजिलेकेहटाशहरकेएकव्यापारीऔरस्थानीयनेतादेवेंद्रचौरसियाकीकस्बेकेबाहरीइलाकेमेंस्थितउनकेकोलतारसंयंत्रमेंकीहत्याकरदीगई.दमोहजिलापंचायतसदस्यनेहत्यासेतीनदिनपहलेहीबसपाकोछोड़करकांग्रेसकाहाथथामाथा.रामबाईकेपतिगोविंद,उनकेदेवरचंदू,भतीजेगोलूऔरचचेरेभाईलोकेशउनसातलोगोंमेंशामिलथेजिनपरहत्याकेआरोपमेंमुकदमादर्जकरायागया.रामबाईइसेअपनेखिलाफसियासीसाजिशकरारदेतीहैं.

जांचशुरूहुईतोपुलिसनेमोबाइलटावरलोकेशनडेटाकेआधारपरआरोपपत्रसेगोविंदकानामहटादियाऔरकहागयाकिगोविंदकेमोबाइलकीलोकेशनहत्यावालेस्थानकेआसपासनहींथी.दोगवाहोंनेभीबयानदिएकिगोविंदहत्याकेसमयकहींऔरथे.रामबाईकेआरोपीपरिवारकेसदस्य,जोफरारहोगएथे,नेबादमेंसमर्पणकरदिया.गोविंदऔरचंदूकालंबाआपराधिकरिकॉर्डहै—लगभग50मामलेउनकेखिलाफदर्जहैं.उन्हेंट्रिपलमर्डरकेसमेंदोषीठहरायागयाथाऔरउम्रकैदकीसजाहुईथी.चौरसियाकीहत्याकेसमयदोनोंजमानतपरबाहरथे.रामबाईकेखिलाफभीधमकीदेने,दंगा,जबरनकब्जाऔरचोटपहुंचानेकेआरोपमेंमामलेदर्जहैं.

हत्यासेएकमहीनेपहले,चौरसियादमोहजिलापंचायतअध्यक्षशिवचरणपटेलकेखिलाफअविश्वासप्रस्तावलेकरआएथे.यहकथितरूपसेस्थानीयराजनीतिसेप्रेरितथाऔरकहाजाताहैकिएककेंद्रीयमंत्रीऔरक्षेत्रकेएकवरिष्ठभाजपानेतानेइसमेंबहुतरुचिलीथी.रामबाई,जोपहलेपंचायतकीउपाध्यक्षथीं,नेपटेलकासमर्थनकियाथा.हालांकिअविश्वासप्रस्तावतोगिरगया,लेकिनमानाजाताहैकिइससेरामबाईकापरिवारउनसेबहुतनाराजहोगयाथा.

इससालमार्चमें,मध्यप्रदेशकीसत्ताकांग्रेसकेहाथसेसरकारभाजपाकेपासचलीगई.विधानसभामेंभाजपानेअपने107विधायकोंकेसाथ,कांग्रेसके25विधायकोंकेइस्तीफादेनेऔरदोविधायकोंकीमौतकेकारणऔर27सीटेंखालीहोनेकेचलतेबहुमतकीसरकारबनालीहै.लेकिनइससेरामबाईकादबदबाकमनहींहुआक्योंकिवेभीउनविधायकोंमेंशामिलथींजोमध्यप्रदेशमेंकमलनाथसरकारकेखिलाफतख्तापलटकाहिस्साथे.

मार्चकीशुरुआतमें,रामबाईकोभाजपाविधायकोंनेदिल्लीभेजाऔरगुरुग्रामकेएकहोटलमेंठहराया.तत्कालीनकांग्रेसीमंत्रियोंजयवर्धनसिंहऔरजीतूपटवारीउन्हेंभोपाललेकरआएऔरउसकेवीडियोसोशलमीडियापरप्रसारितहुएथे.रामबाईनेतबभाजपाकासमर्थनकरनेकीबातसेइनकारकियाथाऔरकहाथाकिवेअपनीबेटीसेमिलनेदिल्लीगईथीं.जबसरकारअंतत:गिरगईतोउन्होंनेभाजपाकेलिएसमर्थनकीघोषणाकीऔरदावाकियाकिउनसेमंत्रीपदकावादाकियागयाथा.हालांकि,उन्हेंमंत्रीनहींबनायागयापररामबाईनेजूनमेंराज्यसभाचुनावोंमेंभाजपाउम्मीदवारोंकेलिएमतदानकिया.

भाजपाभलेहीविधानसभामेंबहुतआरामदायकस्थितिमेंहैफिरभीउसनेरामबाईकोअपनेसाथखुशरखनाजारीरखाहै.औरऐसाक्योंहै,इसेसमझिए.हालांकिभाजपाकेपास107सीटेंहैंऔरकांग्रेसकेविधायकलगातारइस्तीफेदेरहेहैं,लेकिनभगवापार्टी27विधानसभासीटोंकेलिएहोनेवालेउपचुनावतकबहुतफूंक-फूंककरकदमरखरहीहै.भाजपाकोसत्तामेंबनेरहनेकेलिएइनमेंसेकमसेकमनौसीटेंजीतनेकीजरूरतहै.हालांकिकांग्रेसकोसत्तामेंलौटनेऔरअपनेदमपरसरकारबनानेकेलिएसभी27सीटेंजीतनीहोंगी.

हालांकि,एकतीसरापरिदृश्यभीहै.अगरभाजपानौसीटोंसेकमऔरकांग्रेस18सेअधिकसीटेंजीतजातीहैतोउसेसातविधायकोंकेसमर्थनकीआवश्यकताहोगी.यहसमर्थननिर्दलीय,बसपाऔरसपाकेविधायकोंसेआएगा.ऐसेमेंसत्तामेंबनेरहनेकेलिएरामबाईकासमर्थनअहमहोगा.अगरभाजपानौसेअधिकसीटेंजीतजातीहैऔर आरामदायकबहुमतकेसाथसरकारबनातीहैतोरामबाईकीअच्छीकिस्मतपरग्रहणलगसकताहै.

बसपाविधायककोहालहीमेंतबएकअप्रत्याशितचुनौतीकासामनाकरनापड़ाजबदमोहकेएकभाजपानेताऔरराज्यकेपूर्ववित्तमंत्रीजयंतमलैयाकेबेटेसिद्धार्थमलैयानेचौरसियाहत्यामामलेमेंउनकेखिलाफबोला.उन्होंनेचौरसियाकेबेटेसोमेशकेसाथएकप्रेसकॉन्फ्रेंसकीऔरहटामेंएकबंदकाआह्वानकियाजोसफलरहा.

फिर,जूनमें,चौरसियाहत्याकेमामलेमेंएकनयामोड़आगया.अनुसूचितजातिसमुदायसेआनेवालेएकयुवाकमलअहिरवारनेचौरसियापरिवारकेसदस्योंपरआरोपलगायाकिदोनोंपरिवारोंकेबीचकथितसंपत्तिविवादकेकारणउन्हेंजानसेमारनेकीकोशिशकीगईहै.मामलेमेंमृतव्यवसायीकेपरिवारकेचारसदस्योंपरमुकदमादर्जकियागयाथा.दिलचस्पबातयहहैकिचौरसियाहत्यामामलेमेंअहिरवारकीमांविद्यारानी,गवाहोंमेंसेएकथीं.उनकेबयानकेआधारपरहीपुलिसनेयहनिष्कर्षनिकालाथाकिरामबाईकेपतिउसस्थानपरनहींथेजहांचौरसियाकीहत्याहुईथी.

शायद,यहसंकेतहैकिराज्यमेंसरकारबदलनेकेबादभीरामबाईकाइलाकेमेंवर्चस्वतनिकभीकमनहींहुआहैक्योंकिदमोहपुलिसनेअपनीजांचमेंअहिरवारपरिवारऔरगोविंदकेबीचएकसंभावितलिंककोदेखनेसेइनकारकरदिया.पुलिसनेअहिरवारकीशिकायतमेंनामितआरोपियोंपरसमर्पणकीखातिरदबावबनानेकेलिएचौरसियापरिवारकेदोरिश्तेदारोंकोभीहिरासतमेंलियाथा.बादमेंउन्हेंछोड़दियागया.13अगस्तको,चौरसियापरिवारकेलिएराहतकीखबरतबआईजबमध्यप्रदेशउच्चन्यायालयनेदमोहपुलिसकोआदेशदियाकिअगलीसुनवाईतकउनकेखिलाफकोईभीकार्रवाईनकीजाए.

चौरसियाकेबेटेसोमेशनेआरोपलगाया,''मेरेपरिवारकेसदस्योंकेखिलाफहत्याऔरएससी/एसटीअत्याचारअधिनियमकेतहतमुकदमेइसलिएदर्जकराएगएहैंताकिहमअपनेपिताकीहत्याकेमामलेकीजांचकोआगेनबढाएं.हमनेदमोहपुलिसकीओरसेदर्जकिएगएहत्याकेइसमामलेसेरामबाईकेपतिगोविंदकानामहटादेनेकेखिलाफदमोहकेमुख्यन्यायिकमजिस्ट्रेटकीअदालतमेंएकमुकदमादायरकियाहै.हमेंइसमेंफैसलेकाइंतजारहै.''

रामबाईकादावाहैकियहसबएकराजनैतिकसाजिशकाहिस्साहै.अपनेबचावमेंवेकहतीहैं,''देवेंद्रचौरसियामामलाअदालतमेंविचाराधीनहै,इसलिएमैंइसपरकोईटिप्पणीनहींकरनाचाहूंगी.चौरसियापिछलेकुछसमयसेअस्वस्थथे.चौरसियापरिवारनेमामलेमें30लोगोंकानामलियाहै.लेकिनअबतककोईहथियारनहींमिलाहैजिससेचौरसियाकीहत्याकीगईहो.''उन्होंनेजयंतमलैयापरभीनिशानासाधा.वेकहतीहैं,''मुझेपताहैकिजोकुछभीहोरहावहसबजयंतमलैयाकीशहपरहोरहाहै.लेकिनमुझेईश्वरकीअदालतपरविश्वासहैऔरजानतीहूंकिअंतत:मुझेन्यायमिलेगा.''