राज्य बनने के बाद नैनीताल सीट पर पहली महिला विधायक बनने का रिकार्ड सरिता आर्य के नाम

विनोदकुमार,भवाली:राज्यबननेकेबादनैनीतालविधानसभासीटपरपहलीमहिलाविधायकनिर्वाचितहुईथींसरिताआर्य।2012मेंकांग्रेसइसरिजर्वसीटपरसरिताकोउम्मीदवारघोषितकरतेहुएचुनावीमैदानमेंउतरीथी।उसकेबाद2017केचुनावमेंभीकांग्रेसनेसरितापरहीदांवखेला,लेकिनतबउन्हेंयहांहारकासामनाकरनापड़ा।अब2022केचुनावकेलिएसरितामशक्कतमेंजुटीथी,मगरकांग्रेससेटिकटकीउम्मीदनहोनेकेचलतेउन्होंनेपालाबदलभाजपाज्वाइनकरलिया।उम्मीदयहीहैकिइसबारकाचुनावभाजपाकेटिकटपरलड़ें।

उत्तराखंडबननेकेबाद2002मेंहुएपहलेआमचुनावमेंनैनीतालसीटपरयूकेडीकेनारायणसिंहजंतवालकोविजयमिलीथी।उसकेबाद2007केचुनावमेंभाजपाकेखड़कसिंहवोहरापरयहांकेमतदाताओंनेभरोसाजतायाऔरउन्हेंविधानसभाभेजा।2012मेंहुएतीसरेआमचुनावमेंसरिताआर्यपूरेदमखमकेसाथकांग्रेसकेटिकटसेमैदानमेंउतरींतोजनतानेउनपरविश्वासजतातेहुएइससीटकेमुद्दोंकोदेहरादूनतकउठानेकाजिम्माउन्हेंसौंपा।2017केविधानसभाचुनावमेंकांग्रेससेसरिताआर्यऔरभाजपासेसंजीवआर्यमैदानमेंउतरे।संजीवकीजीतकेबादसरिताकोतबजनादेशनेनिराशकियाथा।

इसबारसंजीववापसकांग्रेसमेंआएतोपांचसालसेचुनावीमैदानमेंउतरनेकीतैयारीमेंजुटीसरिताकीबेचैनीबढ़गई।अबभाजपासेटिकटकीआसकेसाउन्होंनेभीपालाबदललियाहै।नैनीतालनगरनिकायकेचुनावमेंजीतकेबादसेलगातारराजनीतिमेंसक्रियसरिताको2009मेंआलइंडियावूमनकांफ्रेंसकाजिलाध्यक्षबनायागयाथा।2015मेंउन्हेंमहिलाकांग्रेसकाप्रदेशअध्यक्षमनोनीतकियागया।अबदलबदलकेबादयदिभाजपाउन्हेंटिकटदेतीहैतोवहउसीकांग्रेसकोसीधीटक्करदेंगी,जिसेउन्होंनेछोड़ाहै।इसराजनीतिकघमासानकेबीचनैनीतालसीटपरमुकाबलाकाफीरोमांचकहोनेवालाहै।