राहुल गांधी का केंद्र पर हमला- राफेल डील में 36,000 करोड़ का नुकसान उधर, सेना सरकार से मांग रही पैसे

नईदिल्लीकांग्रेसअध्यक्षराहुलगांधीनेशुक्रवारकोएकबारफिरराफेलफाइटरजेट्सडीलकोलेकरसरकारपरहमलाबोला।उन्होंनेआरोपलगायाकिइसडीलसेसरकारीखजानेको36,000करोड़रुपयेकानुकसानहुआहैजबकिदूसरीतरफसेनाकेपासफंडकीभारीकमीहै।उन्होंनेसाफकहाकिमोदीसरकारएकराफेलजेटपर1100करोड़रुपयेज्यादाभुगतानकररहीहै।राहुलगांधीनेआरोपलगायाकिलड़ाकूविमानबनानेवालीफ्रेंचकंपनी(डसाल्टएविएशन)नेरक्षामंत्रीनिर्मलासीतारमणकेझूठकापर्दाफाशकरदियाऔरअपनी2016कीसालानारिपोर्टमेंएयरक्राफ्टकीकीमतबताई।गांधीनेफाइटरजेट्सकेलिएबीजेपीसरकारद्वाराचुकाईगईकीमतकाजिक्रकरतेहुएकहाकिएयरक्राफ्टकीकीमतकोमनमोहनसिंह(MMS)केनेतृत्ववालीUPAसरकारने570करोड़रुपयेतयकियाथा।उन्होंनेट्वीटमेंलिखा,'डसाल्टनेRM(रक्षामंत्री)काझूठपकड़ाऔररिपोर्टमेंएकराफेलपरचुकाईगईकीमतजारीकरदी:कतर=1319करोड़,मोदी=1670करोड़,MMS=570करोड़।'कांग्रेसअध्यक्षनेट्विटरपरकहा,'1100करोड़प्रतिप्लेनया36000करोड़यानीहमारेरक्षाबजटका10प्रतिशत,पॉकेटमें।इसदौरानहमारीसेनासरकारसेपैसेकीगुहारलगारहीहै।'पढ़ें:सेनाकेआधुनिकीकरणमेंबाधाबनरहीहैफंडकीकमीगौरतलबहैकिराहुलगांधीबीजेपीसरकारपरलगातारइसडिफेंसडीलकोलेकरहमलाकररहेहैं।उनकाआरोपहैकिइसडीलसेसरकारीखजानेकोभारीनुकसानपहुंचाहै।उन्होंनेइसगंभीरमसलेपरप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकीचुप्पीपरभीसवालउठाएहैं।