R K Puram: बीजेपी के गढ़ में आम आदमी पार्टी की दस्तक, इस बार कौन जीतेगा?

दिल्लीमेंआरकेपुरमविधानसभासीट1993से2013तककांग्रेसऔरभारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)केबीचबराबरटक्करवालीसीटरहीहै.इससीटसेदोनोंपार्टियोंकेउम्मीदवारदो-दोबारजीतहासिलकरनेमेंकामयाबरहेहैं.अन्नाआंदोलनकेबाद2015केविधानसाचुनावोंमेंइससीटपरसमीकरणबदलगयाऔरएकतीसरेदलआमआदमीपार्टीनेयहांदस्तकदीऔरउसकीउम्मीदवारप्रमिलाटोकसजीतनेमेंकामयाबहुईं.

आरकेपुरमविधानसभासीटकीस्थिति

नईदिल्लीलोकसभाक्षेत्रकेतहतआनेवालीआरकेपुरमविधानसभासीटपरकुलआबादीमेंअनुसूचितजातिकाअनुपात16.56फीसदीहै.2019कीमतदातासूचीकेमुताबिकइससीटपर1,55,287मतदाता156मतदानकेंद्रोंपरअपनेमताधिकारकाप्रयोगकरेंगे.2015केचुनावमेंयहां64.14%मतदानहुआ.इसचुनावमेंबीजेपी,कांग्रेसऔरआमआदमीपार्टीकोक्रमशः36.96%,4.2%और56.77%वोटमिले.

येभीपढ़ेंः दिल्लीचुनाव2020:जानिए1993सेअबतक,कबकिससेसिरसजाताज

विधानसभाचुनाव2015

प्रमिलाटोकस(आमआदमीपार्टी)-54,645(57.97%)

अनिलकुमारशर्मा(बीजेपी)-35,577(37.74%)

लीलाधरभट्ट(कांग्रेस)-4,042(4.28%)

विधानसभाचुनाव2013

अनिलकुमारशर्मा(बीजेपी)-28,017(33.17%)

शाजियाइल्मी(आमआदमीपार्टी)-27,691(32.78%)

बरखासिंह(कांग्रेस)-19,679(23.30%)

2013-2015मेंचलीथीकेजरीवालकीलहर

बहरहाल,दिल्लीविधानसभाचुनावमेंआमआदमीपार्टी(AAP)केराष्ट्रीयसंयोजकएवंमुख्यमंत्रीअरविंदकेजरीवालकेसमक्षअपनासबसेमजबूतकिलाबचानेकीप्रबलचुनौतीहै.

पिछलेविधानसभाचुनावमेंदिल्लीविधानसभाकी70मेंसे67सीटेंजीतनेवालेकेजरीवालकाजादूइसबारचलेगायानहींइसपरपूरेदेशकीनिगाहेंहैं.केजरीवालअपनेपांचवर्षकेकार्यकालकेदौरानविशेषकरस्वास्थ्यऔरशिक्षाकेक्षेत्रमेंकिएगएकार्योंकोगिनातेहुएइसबारभीपूरेआत्मविश्वासमेंहैंजबकिराजनीतिकपंडितोंकामाननाहैकिपिछलाकरिश्मादोहरानामुश्किलनजरआरहाहै.

वर्ष2013केदिल्लीविधानसभाचुनावसेकुछसमयपहलेही‘AAP’कागठनहुआथाऔरउसचुनावमेंदिल्लीमेंपहलीबारत्रिकोणीयसंघर्षहुआजिसमें15वर्षसेसत्तापरकाबिजकांग्रेस70मेंसेकेवलआठसीटेंजीतपाईजबकिभारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)सरकारबनानेसेकेवलचारकदमदूरअर्थात32सीटोंपरअटकगई.‘आप’को28सीटेंमिलीऔरशेषदोअन्यकेखातेमेंरहीं.

येभीपढ़ेंः मनोजतिवारी:एक'भोजपुरी'चेहराजोदिल्लीकीराजनीतिमेंवजूदकीलड़ाईलड़रहाहै

भाजपाकोसत्तासेदूररखनेकेप्रयासमेंकांग्रेसने‘AAP’कोसमर्थनदियाऔरकेजरीवालनेसरकारबनाई.लोकपालकोलेकरदोनोंपार्टियोंकेबीचठनगईऔरकेजरीवालने49दिनपुरानीसरकारसेइस्तीफादेदिया.इसकेबाददिल्लीमेंराष्ट्रपतिशासनलगाऔरफरवरी2015में‘AAP’नेसभीराजनीतिकपंडितोंकेअनुमानोंकोझुठलातेहुए70मेंसे67सीटेंजीतीं.बीजेपीतीनपरसिमटगईजबकिकांग्रेसकीझोलीपूरीतरहखालीरहगई.

वोटिंगऔरमतगणनाकब?

दिल्लीकीपहलीविधानसभाकागठन1993मेंहुआथाऔरइसबारयहांपरसातवांविधानसभाचुनावकरायाजारहाहै.इससेपहलेराजधानीदिल्लीमेंमंत्रीपरिषदहुआकरतीथी.दिल्लीकी70सदस्यीयविधानसभामेंइसबारमहजएकचरणमेंमतदानहोरहाहै.8फरवरीकोवोटडालेजाएंगेजबकि11फरवरीकोमतगणनाहोगी.छठीदिल्लीविधानसभाकाकार्यकाल22फरवरी2020कोसमाप्तहोजाएगा.