प्रदूषण के कारण 'इमरजेंसी' जैसे हालात, इससे निपटना आवश्यक: सुप्रीम कोर्ट

नईदिल्ली[जेएनएन]।सुप्रीमकोर्टनेराजधानीदिल्लीऔरआसपासकेक्षेत्रमेंवायुप्रदूषणकेस्तरकोचिंताजनकबताया।स्मॉगऔरप्रदूषणकेमामलेपरसुप्रीमकोर्टनेदिल्लीसेसटेहरियाणाऔरपंजाबसरकारकोनोटिसजारीकियाहै।कोर्टनेप्रदूषणकोगंभीरसमस्यामानतेहुएइससेनिपटनेकेलिएकुछसुझावभीदिए।देशकीसर्वोच्चअदालतनेकहाकिप्रदूषणकेकारण'इमरजेंसी'जैसीस्थितिहैऔरइससेनिपटनातुरंतआवश्यकहै।

कोर्टनेकहा,'राष्ट्रीयराजधानीऔरआसपासप्रदूषणकास्तरचिंताजनकहै।यहगंभीरसमस्याहैऔरराज्यसरकारोंकोबतानाहोगाकिइससेनिपटनेकेलिएक्याप्रयासकिएजारहेहैं।'कोर्टनेप्रदूषणकोरोकनेकेलिएराज्यसरकारोंसेहवाकोशुद्धकरनेकेउपायकेसाथई-रिक्शाजैसेउपायोंकोबढ़ावादेनेकासुझावभीदिया।

वकीलआरकेकपूरनेदाखिलकीयाचिका

दिल्ली-एनसीआरमेंबढ़तेप्रदूषणपररोकलगानेकेलिएतत्कालकदमउठानेकीमांगकरनेवालीयाचिकापरकोर्टमेंसुनवाईहुई।इसयाचिकामेंपरालीजलाने,सड़कपरधूलतथाऑड-इवेनयोजनाकोप्रभावीरूपसेलागूकरनेकेसंबंधमेंकेंद्रतथाराज्योंकोनिर्देशदेनेकीमांगसुप्रीमकोर्टसेकीगईथी।यहयाचिकासुप्रीमकोर्टकेवकीलआरकेकपूरनेदाखिलकीथी।

दिल्लीमेंखुलेस्कूल

प्रदूषणसेबेहालदिल्लीमेंसोमवारसुबहस्कूलखुलगए।पिछलेपांचदिनसेप्रदूषणकेचलतेस्कूलबंदकिएगएथे।प्रदूषणकास्तरबढ़नेसेहवाऔरजहरीलीहोगईहै।

यहभीपढ़ें: 'वायुप्रदूषणकेकारणभारतमेंहरसाल18लाखलोगोंकीहोतीहैमौत'

यहभीपढ़ें: 'आप'विधायकनेकहा,परालीजलाकरमैंनेकुछगलतनहींकिया