प्रदेश के सबसे बड़े जिला के दो नगर निगमों पर सबकी नजर, पालमपुर में जीत भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्‍न

धर्मशाला,राजेंद्रडोगरा।नगरनिगमचुनावकाबिगुलबजचुकाहै।इसकेसाथहीप्रदेशकेसबसेबड़ेजिलाकांगड़ाकेदोनगरनिगमोंधर्मशालावपालमपुरपरअबसबकीनजरतबतकरहनेवालीहै,जबतकयहांचुनावनतीजेनहींनिकलजाएंगे।नगरनिगमधर्मशालामेंदूसरीजबकिपालमपुरमेंपहलीबारचुनावहोगा।

नगरनिगमधर्मशालाकागठनवर्ष2015मेंवीरभद्रसरकारकेकार्यकालमेंहुआथा।पहलीबारहुएचुनावमेंज्यादातरकांग्रेससमर्थकविजयीहुएथे।पहलेमहापौरऔरउपमहापौरभीकांग्रेससमर्थितरहेहैं।हालांकिढाईवर्षकेकार्यकालकेबादमहापौरकांग्रेससमर्थिततोउपमहापौरभाजपासमर्थितरहेलेकिनइसबारपरिस्थितियांअलगहैं।

वहीं,जयरामसरकारकेकार्यकालमेंनवगठितनगरनिगमपालमपुरमेंसरकारकीप्रतिष्ठाकाभीसवालहै।नगरनिगमबननेसेपूर्वकीनगरपरिषदपरकांग्रेसकाकब्जारहाहै।ऐसेमेंयहांपरभाजपाकेलिएजीतप्रतिष्ठाकाप्रश्नहै।नगरनिगमधर्मशालाके17वार्डोंकेपार्षदकेलिएचुनावसातअप्रैलकोहोगा।नगरनिगमधर्मशालाकेमेयरऔरउपमहापौरकेलिएअप्रत्यक्षचुनावहोगा।

जिलानिर्वाचनअधिकारीकांगड़ाराकेशप्रजापतिकाकहनाहैनगरनिगमधर्मशालाऔरपालमुपरमेंचुनावकेदृष्टिगतक्षेत्रमेंआदर्शआचारसंहितालागूहोगईहैजोचुनावप्रक्रियापूरीहोनेतकप्रभावीरहेगी।सहायकरिटर्निंगऑफिसरनगरनिगमधर्मशालाऔरपालमपुरकोअपनेस्तरपरसमितियोंकेगठनकरनेकेलिएनिर्देशितकियागयाहैजिससेआदर्शआचारसंहिताकेकार्यान्वयनकीनिगरानीकीजासके।