परबत्ता में भगवान भरोसे आंगनबाड़ी केंद्र

संवादसूत्र,परबत्ता(खगड़िया):परबत्तामेंआइसीडीएसकेतत्वाधानमेंसंचालित278आंगनबाड़ीकेंद्रोंकीदेखरेखकेलिएसातमहिलापर्यवेक्षिकापदस्थापितहैं।जिनमेंआधेदर्जनमहिलापर्यवेक्षिकाप्रखंडमुख्यालयसेबाहररहकरआइसीडीएसकार्यालयकेकार्योंकानिष्पादनकरतीहैैं।अधिकांशमहिलापर्यवेक्षिकाखगड़ियाऔरगोगरीरहरहीहैं।सूत्रोंकेमुताबिकसातमहिलापर्यवेक्षिकामेंसेमात्रएकमहिलापर्यवेक्षिकाहीपरबत्तामेंडेरालेकररहरहीहैं।एकमहिलापर्यवेक्षिकाकाघरगोगरीहै।शेषमहिलापर्यवेक्षिकाअपनाआवासखगड़ियामेंरखीहुईहैं।इससेसहजहीअंदाजालगायाजासकताहैकिआंगनबाड़ीकेंद्रोंकीजांचकितनीमजबूतीसेहोतीहोगी।वर्ष2015मेंतत्कालीनजिलाधिकारीराजीवरोशनगृहप्रखंडकार्यालयमेंपदस्थापितमहिलापर्यवेक्षिकाकोहटादियाथा।सूत्रोंकीमानेतोइनदिनोंपरबत्ताआइसीडीएसकार्यालयमेंपदस्थापितएकमहिलापर्यवेक्षिकापूर्वमेंमहद्दीपुरपंचायतकीझंझरामेंआंगनबाड़ीसेविकाथी।बादमेंवेमहिलापर्यवेक्षिकामेंचयनितहोगई।अभीवेपरबत्ताआइसीडीएसकार्यालयमेंपदस्थापितहैं।आखिरगृहप्रखंडमेंमहिलापर्यवेक्षिकाकापदस्थापनकैसेहुआ,यहभीजांचकाविषयहै।जबकिगृहप्रखंडमेंमहिलापर्यवेक्षिकाकेपदस्थापितरहनेकानियमहीनहींहै।

आइसीडीएसकेडीपीओराजऐश्वर्यानेबतायाकिसरकारीकर्मीकोआठकिलोमीटरकेदायरेमेंरहनाहै।इससेअधिकदूरीपररहरहीहैतोयहनियमोंकेविरुद्धहै।इसकापड़तालकरेंगे।जहांतकमहिलापर्यवेक्षिकाकेगृहप्रखंडमेंपदस्थापितरहनेकीबातहै,तोतबादलाउनकेसमयमेंनहींहुआहै।फाइलोंकाअवलोकनकरेंगे,इसकेबादआवश्यककदमउठाएंगे।