फिर जंगल महल पर नजरें इनायत

संवादसहयोगी,खड़गपुर:पश्चिममेदिनीपुरजिलाअंतर्गतराजनीतिकहलकोंमेंजंगलमहलसहसाफिरमहत्वपूर्णहोगयाहै।पंचायतचुनावकेमुहानेपरयहांफिरउत्सवऔरखेलकेआयोजनकीकवायदशुरूहोचुकीहै।

2011मेंहुएविधानसभाचुनावसेपहलेसेहीलंबेसमयतकउपेक्षितरहाजंगलमहलअचानकराजनैतिकदृष्टिसेकाफीमहत्वपूर्णहोगया।इसकेपीछेमाओवादीगतिविधियोंकीबड़ीभूमिकामानीजातीहै,लेकिनसमझाजाताहैकिपिछलेदोविधानसभाऔरपंचायतचुनावमेंइसक्षेत्रकेझुकावकेचलतेहीवामपंथियोंकेदांतखट्टेहुएऔरटीएमसीकाआधारमजबूतहुआ।कुछमहीनेबादहोनेजारहेपंचायतचुनावसेपहलेइसकेमहत्वकोसमझतेहुएएकबारफिरजंगलमहलखेलऔरउत्सवकेआयोजनकीकवायदशुरूहोचुकीहै।इसकेलिएमंत्रियोंकेदौरेतेजहोचुकेहैं,वहींसमारोहमेंमुख्यमंत्रीममताबनर्जीतककेआगमनकीसंभावनाव्यक्तकीजारहीहै।मानाजारहाहैकिचुनावअधिसूचनाजारीहोनेसेपहलेहीसारीकवायदपूरीकरलेनेपरजोरहै।हालांकिटीएमसीजिलासमितिकेअध्यक्षवजिलापरिषदकेउपाध्यक्षअजीतमाईतीनेकहाकिखेलऔरउत्सवहरसालहोताहै।इसेराजनीतिकनजरिएसेनहींदेखाजानाचाहिए।