ओपीडी दूसरे दिन भी बंद, मरीज परेशान

संवादसहयोगी,श्रीमुक्तसरसाहिब

छठेवेतनआयोगकीसिफारिशोंतथाउसमेंनानप्रेक्टिसअलाउंसकमकरनेकेविरोधमेंसरकारीडाक्टरोंकेअलावालैबटेक्निशियनसहितअन्यसेहतकर्मचारियोंनेभीसरकारकेखिलाफमोर्चाखोलदिया।मंगलवारकोपीसीएमएसडाक्टर्सएसोसिएशनकेआह्वानपरजिलेकेसभीसरकारीअस्पतालों,सबडिविजनोंकेअलावाअन्यसेवाकेंद्रोंपरओपीडीसहितअन्यसेहतसेवाएंपूरीतरहसेबंदरखकरपंजाबसरकारकेखिलाफरोषप्रदर्शनकियागया।इससेमरीजोंकोकाफीसमस्याहुईऔरउन्हेंबिनाइलाजकेघरलौटनापड़ा।

मंगलवारकोडाक्टरोंकीहड़तालमेंसिविलसर्जनआफिसकेमिनिस्टिीरियलस्टाफकेसदस्य,पैरामेडिकलस्टाफ,लैबटेक्निशियन,पीसीएएस,वेटरनरी,डेंटल,होम्योपैथी,आयुर्वेदिक,रूरलमेडिकलअफसरऔरमेडिकलऔरवेटरनरीकालेजोंकेटीचरभीशामिलहुए।इसकेकारणमंगलवारदूसरेदिनभीजिलेकेसभीसिविलअस्पतालवसेहतकेंद्रोंमेंमेडिकलसेवाएंपूरीतरहठपरही।पिछलेआठदिनोंसेलगातारडाक्टरोंकीहड़तालचलरहीहै।जिसकाकारणएनपीएमेंकटौतीकाविरोधहै।प्रधानडॉ.अर्पणनेबतायाकिकेवलओपीडीतथामेडिकोलीगलकेसबंदकिएगएहैं।कोविडवअन्यआपातकालीनसेवाएंजारीहैं।अगरसरकारनेउनकीमांगेंनहींमानीतोइमरजेंसीसेवाएंऔरकोरोनासेसंबंधितसभीकार्यभीठपकरदिएजाएंगे।

उन्होंनेकहाकिकोरोनाकालकेदौरानमरीजोंकीसेवाकरनेपरसरकारनेउनकावेतनबढ़ानेकेबजायएनपीएमेंपांचफीसदीकटौतीकरदीहै,जोकिपूरीतरहगलतहै।डाक्टरोंनेएनपीए33फीसदीकरनेकीमांगकी।