न्यायालय का फैसला मोदी सरकार के लिए बड़ा झटका, गोवा के राज्यपाल का पद छोड़ें मलिक: कांग्रेस

नयीदिल्ली,10जनवरी(भाषा)कांग्रेसनेजम्मू-कश्मीरमेंधारा144औरइंटरनेटसेवाओंपरपाबंदीसेजुड़ेउच्चमन्यायालयकेफैसलेकोनएसालमेंमोदीसरकारकेलिएपहलाबड़ाझटकाकरारदेतेहुएशुक्रवारकोकहाकिजम्मू-कश्मीरकेराज्यपालरहेसत्यपालमलिककोअबगोवाकेराज्यपालपदसेइस्तीफादेदेनाचाहिए।पार्टीकेवरिष्ठनेतागुलामनबीआजादनेदावाकियाकिसरकारनेलोगोंकोगुमराहकरनेकीकोशिशकीथीऔरइसबारशीर्षअदालतकिसीदबावमेंनहींआई।वरिष्ठवकीलऔरकांग्रेसनेताकपिलसिब्बलनेसंवाददाताओंसेकहा,‘‘उच्चतमन्यायालयनेऐतिहासिकफैसलादियाहै।देशकेलोगोंकोजम्मू-कश्मीरकीस्थितिकोलेकरचिंताथी।अबवहांसेसूचनाएंआसकेंगी।’’उन्होंनेसवालकिया,‘‘पिछलेसालचारअगस्तकोऐसीक्याआपातस्थितिआगईथीकिइंटरनेटपरपाबंदीलगाईगई?’’एकसवालकेजवाबमेंउन्होंनेयहभीकहाकिअगरवहांधारा144खत्महोतीहैतोविपक्षकेनेतावहांजाएंगे।कांग्रेसकेवरिष्ठनेताऔरपूर्वगृहमंत्रीपीचिदंबरमनेशुक्रवारकोकहाकिजम्मू-कश्मीरमेंइंटरनेटसेवाओंपरपाबंदीकोलेकरउच्चतमन्यायालयकाआदेशकेंद्रसरकारकेअहंकारीरुखकोखारिजकरताहैऔरअबइसकेंद्रशासितप्रदेशमेंसंविधानकासम्मानकरनेवालेनएप्रशासकोंकीनियुक्तिहोनीचाहिए।उन्होंनेयहभीकहाकिजम्मू-कश्मीरकेराज्यपालरहेसत्यपालमलिककोअबगोवाकेराज्यपालकेपदइस्तीफादेदेनाचाहिए।पूर्वकेंद्रीयगृहमंत्रीनेट्वीटकरकहा,‘‘संविधानकासम्मानकरनेवालेनएप्रशासकोंकीनियुक्तिकीजानीचाहिए।जम्मू-कश्मीरकेपूर्वराज्यपालसत्यपालमलिककोजिम्मेदारीलेनीचाहिएऔरउन्हेंगोवाकेराज्यपालपदसेइस्तीफादेदेनाचाहिए।’’राज्यसभामेंनेताप्रतिपक्षआजादनेकहा,‘‘हमफैसलेकास्वागतकरतेहैं।यहपहलीबारहैकिउचचतमन्यायालयनेजम्मू-कश्मीरकेलोगोंकीदिलकीबातकहीहै।उसनेलोगोंकीनब्जपकड़लीहै।मैंऐतिहासिकनिर्णयकेलिएउच्चतमन्यायालयकाधन्यवादकरनाचाहताहूं।पूरेदेशखासकरजम्मू-कश्मीरकेलोगइसकेलिएइंतजारकररहेथे।’’उन्होंनेकहा,‘‘भारतसरकारनेपूरेदेशकोगुमराहकिया।इसबारउच्चतमन्यायालयकिसीदबावमेंनहींआया।’’पार्टीकेमुख्यप्रवक्तारणदीपसुरजेवालानेट्वीटकरकहा,''उच्चतमन्यायालयनेमोदीसरकारकीगैरकानूनीगतिविधियोंकोयहकहतेहुएपहलाबड़ाझटकादियाकिइंटरनेटकीआजादीएकमौलिकअधिकारहै।''उन्होंनेदावाकिया,''मोदी-शाहकेलिएदोहराझटकाहैकिविरोधकोधारा144लगाकरनहींदबायाजासकता।उन्होंनेकहाकिमोदीजीकोयाददिलायागयाहैकिराष्ट्रउनकेसामनेनहीं,संविधानकेसामनेझुकताहै।''गौरतलबहैकिउच्चतमन्यायालयनेशुक्रवारकोअपनीएकमहत्वपूर्णव्यवस्थामेंइंटरनेटकेइस्तेमालकोसंविधानकेअनुच्छेद19केतहतमौलिकअधिकारकरारदियाऔरजम्मूकश्मीरप्रशासनसेकहाकिकेन्द्रशासितप्रदेशमेंप्रतिबंधलगानेसंबंधीसारेआदेशोंकीएकसप्ताहकेभीतरसमीक्षाकीजाये।न्यायमूर्तिएनवीरमण,न्यायमूर्तिबीआरगवईऔरन्यायमूर्तिआरसुभाषरेड्डीकीपीठनेसंविधानकेअनुच्छेद370केअधिकांशप्रावधानसमाप्तकरनेकेसरकारकेफैसलेकोचुनौतीदेनेवालीयाचिकाओंपरयहव्यवस्थादी।