मुख्यमंत्री आवास योजना: पहले चरण में 1.25 लाख परिवारों का सर्वे का काम पूरा

केजरीवालसरकारकेदिल्लीशहरीआश्रयसुधारबोर्ड(डीयूएसआईबी)द्वारापक्काआवासमुहैयाकरानेकेलिएअबतक270झुग्गीबस्तियोंमेंरहनेवाले1.25लाखपरिवारोंकासर्वेहोचुकाहै.इन्हेंदिल्लीसरकारकीओरसेसर्वेक्षणप्रमाणपत्रजारीकियाजाएगा.

झुग्गीझोपड़ीमेंरहनेवालोंकेलिएआवासकीकुलमांगकाआकलनकरनेकेलिए675झुग्गीबस्तियोंमेंबड़ेपैमानेपरसर्वेक्षणकाकामचलरहाहैजिससेयहपताचलेगाकिइनकेलिएकितनेआवासकीआवश्यकताहै.

किसआधारपरहोगालोगोंकाचयन?

शहरीविकासमंत्रीसतेंद्रजैनकेमुताबिकदिल्लीसरकारझुग्गीमेंरहनेवालेप्रत्येकपरिवारकोसर्वेक्षणप्रमाणपत्रजारीकरेगी,जिसमेंपरिवारकीतस्वीरकेसाथस्थान,झुग्गीनंबरहोगा.यहसर्वेक्षणआनेवालेवर्षोंमेंगरीबोंकेलिएघरोंकेनिर्माणकीमांगकाआकलनकरनेमेंसरकारकीमददकरेगा.

इससेपहलेमेंदिल्लीस्लमऔरझुग्गीझोपड़ीपुनर्वासऔरपुनर्वासनीति,2015केनामसेजानीजानेवालीमुख्यमंत्रीआवासयोजना(एमएमएवाई)केतहतझुग्गीसमूहोंकेपुनर्वासकेलिएसर्वेएकअनिवार्यप्रक्रियाहै.इसकेआधारपरहीपात्रलोगोंकाचयनहोगा.

कैसेकामकरताहैडिजिटलसर्वेक्षण

ऐप-आधारितइसडिजिटलसर्वेक्षणमेंपरिवारकेसदस्योंकेचित्रोंकेसाथ-साथउनकेव्यक्तिगतपहचानप्रमाणपत्रजैसेआधारकार्ड,मतदातापहचानपत्र,बिजलीबिलआदिकीतस्वीरोंकेसाथझुग्गीझोपड़ीमेंरहनेवालेपरिवारोंकेबारेमेंपूरीजानकारीदीगईहै.इसमेंयहपतालगानाहैकिपरिवारकितनेवर्षोंसेझुग्गीझोपड़ीमेंरहरहाहैऔरप्रत्येकघरमेंव्यक्तियोंकीसंख्याकितनीहै.इससेआवंटनप्रक्रियाकेदौरानबादमेंअनुचितदावोंकोरोकनेमेंमददमिलेगी.

डीयूएसआईबीअधिकारियोंकीदेखरेखमेंएकस्वतंत्रएजेंसीसेसर्वेक्षणकरायाजारहाहै.ऐप-आधारितसर्वेक्षणभू-निर्देशांककेसाथएकऑनलाइनडेटाबेसपरसभीजानकारीजानकारीकोएकत्रकरताहैजिसेअधिकारियोंकीओरसेऑनलाइनएक्सेसऔरसत्यापितकियाजासकताहै.इससेसर्वेकोत्रुटिमुक्तऔरफर्जीवाड़ामुक्तबनायागयाहै.

क्याकहतीहैकेजरीवालसरकार

केजरीवालसरकारकेमुताबिकइसयोजनाकेतहतपात्रतामानदंडोंकोपूराकरनेवालेझुग्गीझोपड़ीमेंरहनेवालेपरिवारोंकोपक्केफ्लैटआवंटितकिएजाएंगे.मुख्यमंत्रीआवासयोजना-2015काप्राथमिकफोकसइन-सीटूमोडपरहैजिससेमौजूदाझुग्गीकेपांचकिलोमीटरकेदायरेमेंपुनर्वासकीयोजनाहै.जिससेपुनर्वासकरनेवालेलोगोंकेजीवनमेंन्यूनतमव्यवधानहो.

केवलविशेषपरिस्थितियोंमेंदूरपुनर्वासितकियाजाएगा.वहभीतबजबपांच किलोमीटरकेदायरेमेंआवासउपलब्धकरानासंभवनहो.वर्तमानसमयमेंदिल्लीसरकारशहरमेंप्रमुखस्थानोंपरआर्थिकरूपसेकमजोरलोगोंकेलिए5500नईआवासइकाइयोंकानिर्माणकरारहीहै.