मंत्री पद से बर्खास्त सचिन पायलट, विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को खाली नहीं करने पड़ेंगे बंगले, वसुंधरा राजे बनीं कारण

जयपुरकेसिविललाइंसमेंतीनपूर्वमंत्रियोंकोबंगलेखालीनहींकरनेपड़ेंगे,जिन्हेंगहलोतसरकारनेबर्खास्तकरदियाथा।सिविललाइंसकेयेबंगलेसिर्फमंत्रियोंकेलिएनिर्धारितहैं।इसकेबावजूदअबसरकारनेएकऐसारास्तानिकाललियाहै,जिसकेजरिएपूर्वमुख्यमंत्रीवसुंधराराजेकाबंगलाभीखालीनहींकरायागयाथा।मानाजारहाहैकिपायलटसमेततीनोंपूर्वमंत्रियोंकेबंगलेबरकराररखनेकाफैसलाइसलिएकियाजारहाहै,ताकिगहलोतसरकारकिसीसियासीबवालमेंनहींफंसे।

असलमेंकांग्रेसकेसत्तामेंआनेकेसाथहीसचिनपायलटडिप्टीसीएमबनाएगएथे।उसीमंत्रिमंडलमेंविश्वेंद्रसिंहपर्यटनमंत्रीऔरखाद्यएवंनागरिकआपूर्तिमंत्रीरहेरमेशमीणाबनाएगएथे।जबपायलटकेसाथयेदोनोंमंत्रीवअन्यविधायकनाराजहोकरचलेगएथे,उसकेबादमुख्यमंत्रीअशोकगहलोतनेतीनोंकोमंत्रीपदसेबर्खास्तकरदियाथा।इसकेबादसेहीयहचर्चाउठनेलगीथीकि6माहमेंतीनोंकेमंत्रियोंकेलिएनिर्धारितबंगलेखालीकरनेहोंगे।तीनोंमेंसेएकनेभीअपनीमर्जीसेबंगलेखालीनहींकिए।सरकारइसेलेकरबेहददुविधामेंथी।

अबयहनिकालारास्ता

सरकारनेअबसरकारएकऐसेरास्तेकाउपयोगकरतीनोंकेबंगलेखालीनहींकरानेकाफैसलाकियाहै,जिसकाउपयोगकरपूर्वमेंमुख्यमंत्रीरहींवसुंधराराजेकाबंगलाउनकेनिवासकेरूपमेंबरकराररखागयाथा।असलमेंपूर्वमेंयेबंगलेसिर्फमंत्रियोंकेलिएहुआकरतेथे,लेकिनपूर्वसीएमराजेसमेततीनऔरविधायकोंकोविधायककोटेसेयेबंगलेविधानसभाअध्यक्षकीओरसेविशेषअधिकारकेतहतआवंटितकरदिएथे।उसीरास्तेविधानसभानेअबसचिनपायलटसमेततीनोंपूर्वमंत्रियोंकोयेबंगलेनियमितकरकेउन्हेंबरकराररखेजानेकीतैयारीकरलीगईहै।

पूर्वमेंभीकियागयाथाऐसाफैसला

असलमेंवसुंधराराजेकेबंगलाखालीकरानेकोलेकरहाईकोर्टनेआदेशकरदियाथा।तबगहलोतसरकारसुप्रीमकोर्टमेंचलीगईथी।तबभीराहतनहींमिलीतोसरकारनेरास्तानिकालाकिपूर्वमेंएमपी,केंद्रयाराज्यमेंमंत्रीरहेहोंयातीनबारकेविधायकरहेहों,उन्हेंबंगलादियाजासकताहै।इसकेबादवसुंधराराजेसेबंगलाखालीनहींकरायागया।इसकेबादपूर्वकेंद्रीयमंत्रीमहादेवसिंहखंडेला,सांसदवराजस्थानमेंमंत्रीरहेमहेंद्रजीतसिंहमालवीयवपूर्वसांसदनरेंद्रबुढ़ानियासेभीइसीतर्जपरबंगलेखालीनहींकराएगए।

सियासीबवालसेबचावकाउपायखोजागहलोतसरकारने

मानाजारहाहैकियदिपूर्वडिप्टीसीएमसचिनपायलटसेयदिसरकारबंगलेखालीकरातीहैतोउनकेसमर्थकोंकीनाराजगीबढ़सकतीथी।ऐसाहीकमोबेशदोनोंपूर्वमंत्रियोंकेसमर्थकोंकेबीचभीसंभवहोता।वैसेहीराज्यमेंकांग्रेसमेंगहलोतऔरपायलटखेमाखासाचर्चाकाविषयबनतारहाहै।ऐसेदोखेमोंमेंबंटीकांग्रेसकेबीचगहलोतसरकारबंगलेखालीकराकरनयासियासीबवालपैदाकरनेकेफिलहालमूडमेंनहींहै।बतायायहभीजारहाहैकिजबगहलोतअपनेसमर्थकविधायकोंकेसाथनाराजगीदूरकरनेप्रियंकागांधीसेमिलेथे,तबभीइनबंगलोंकोलेकरकोईबातहुईथी।ऐसेमेंगहलोतसरकारनेनईबंगलापॉलिटिक्ससेनहींछिड़नेदेनाचाहती।