मंद हुई कोरोना की रफ्तार, स्वस्थ होने लगे मरीज

जागरणसंवाददाता,बोकारो:मईकेप्रथमसप्ताहतककोरोनाकीतेजरफ्तारसेपरेशानप्रशासनिकअमलेनेराहतकीसांसलीहै।अबहरदिनअधिकतरमरीजठीकहोरहेहैं।वहीअधिकजांचकेबावजूदसंक्रमितलोगोंकीसंख्यामेंकमीदेखनेकोमिलरहीहै।जिलेकीअच्छीस्थितिकाअंदाजाइसबातसेलगायाजासकताहैकियहांकेविभिन्नअस्पतालोंमेंअधिकतरबेडखालीहै।

अबबेडकेलिएमारामारीनहींहै।यदिकिसीकाकोईपरिजनबीमारहैतोउसकेलिएसरकारीवनिजीदोनोंप्रकारकेअस्पतालमेंबेडउपलब्धहै।वर्तमानमेंकोरोनासंक्रमितलोगोंकेलिएनिर्धारितसरकारीअस्पतालोंके755औरनिजीअस्पतालोंके583कुल1337सामान्यश्रेणीकेबेडहै।इनमेंशुक्रवारकीशामतकमात्र177लोगइलाजरतथे।इनकीहालतअच्छीहै।आनेवालेदोसेचारदिनोंमेंइनकीछुट्टीहोजाएगी।भर्तीमरीजोंमें133सरकारीऔरबोकारोजनरलअस्पतालमेंहै।निजीअस्पतालमेंमात्र44मरीजोंकाइलाजचलरहाहै।

ऑक्सीजनकीमारामारीखत्म:जिलेमेंमात्र125मरीजऐसेहैंजिन्हेंऑक्सीजनसिलेंडरकीजरूरतहै।इसकेअतिरिक्त80मरीजऑक्सीजनकंसट्रेटरकेसहारेजरूरतकेअनुसारशुद्धऑक्सीजनलेकरअपनास्वास्थ्यलाभलेरहेहैं।बोकारोमेंऑक्सीजनकीउपलब्धताहै,लेकिनअस्पतालोंकोऑक्सीजनकीजरूरतनहींपड़रहीहै।जिलास्वास्थ्यविभागवबीजीएचमेंचलरहे320ऑक्सीजनसपोर्टेडबेडपरमात्र92लोगोंकाहीइलाजचलरहाहै।निजीनर्सिंगहोमके353ऑक्सीजनसपोर्टेंडबेडपरमात्र33लोगइलाजरतहै।शेष74लोगोंकोअलग-अलगकारणोंसेऑक्सीजनकंसनट्रेटरयुक्तबेडउपलब्धकरायागयाहै।

जिलेमेंबेडकीउपलब्धतावभर्तीमरीज

क्रमसंख्या--बेडकीश्रेणी--सरकारी--खालीबेड-निजी---खालीबेड

1.सामान्यबेड--755--622--582--538

2.ऑक्सीजनसपोर्टेडबेड--320--238--353--320

3.ऑक्सीजनकंसट्रेटर--84--18--00--00

4.अन्यबेडवेंटिलेटरसहित--56--18--37--30

लॉकडाउनऔरलोगोंमेंजागरूकताकेकारणमरीजोंकीसंख्यामेंभारीगिरावटहुईहै।अभीखतराटलानहींहै।जबतकशतप्रतिशतवैक्सीनेशनकाकामनहींहोजाताहै।हमसभीकोस्वयंवअपनेलोगोंकोबचानेकेलिएसावधानीजरूरीहै।

डॉ.अशोककुमारपाठक,सिविलसर्जनबोकारो