मिथिला, मैथिली के लिए केंद्र व राज्य सरकार कर रही काम

मधुबनी।मिथिलाविभूतिस्मृतिपर्वसमारोहकादूसरेदिनमिथिलाकेविकासपरचर्चाकेनामरहा।मैथिलसमाजरहिकाकीओरसेआयोजितसमारोहकेप्रथमसत्रकेकार्यक्रमकोसंबोधितकरतेहुएसंस्थाकेअध्यक्षसुमनकुमारमहासेठनेकहाकिमिथिलाऔरमैथिलीकेविकासमेंकेंद्रवराज्यकीएनडीएकीसरकारलगातारकामरहीहै।मैथिलीकोअष्टमअनुसूचीमेंशामिलकरकेंद्रकीतत्कालीनएनडीएसरकारकेप्रधानमंत्रीअटलबिहारीवाजपेयीनेसमस्तमिथिलावासियोंकामानसम्मानबढ़ानेकाकामकियाथा।जोभीकामशेषरहाहैवहभीपूरीकरनेकीमांगसरकारसेकीजाएगी।

साहित्यकारउदयचंद्रझाविनोदनेकहाकिमिथिलाऔरमैथिलीकेविकासमेंसरकारकोअभीबहुतकामकरनाहै।सरकारकोइसकेविकासमेंगंभीरहोनेकीआवश्यकताहै।डॉ.हेमचंद्रझानेकहाकिमिथिलाऔरमैथिलीकेविकासबिनादेशकाविकाससंभवनहींहै।यहविभूतियोंकीधरतीहै।हमअपनीमातृभाषाकीरक्षाऔरविकासकोलेसंघर्षकररहेहैं।सचिवशीतलांबरझानेकहाकिसमाजकेहरवर्गकेलोगमांमैथिलीकीरक्षावविकासमेंगांवसेदेशवविदेशमेंसंघर्षकरमानसम्मानबढानेकाकामकररहीहै।जरूरतहैकिविद्यापति,सलहेशदीनाभद्रीजैसीअन्यविभूतियोंकीसामाजिकसमरसताकीसोचकोसरकारमातृभाषामैथिलीकोराजकार्यमेंलागूकरकरे।इसअवसरपरभवेशझा,विकासझा,उदयकांतललन,सनाउल्लाह,शशिधरझा,राजेंद्रयादवकेअलावेअन्यगणमान्यव्यक्तियोंनेसंबोधितकिया।वहींपूजाकुमारी,कुमारीमेधासहितअन्यकलाकारोंद्वारादेररातगीत-संगीतकाकार्यक्रमप्रस्तुतकरमंत्रमुग्धकरदिया।सांस्कृतिककार्यक्रममेंरमेशरंजनकेसहयोगकिया।