मानसिक, शारीरिक व आर्थिक रूप से सशक्त हो नारी

जागरणसंवाददाता,फतेहाबाद:महिलादिवसकेमौकेपरदैनिकजागरणकीओरसेपंचायतभवनमेंकार्यक्रमआयोजितकियागया।कार्यक्रममेंग्रामीणक्षेत्रोंमेंस्वयंसहायतासमूहकेअंतर्गतकार्यकरनेवालीमहिलाएंपहुंची।विभिन्नक्षेत्रोंसेजुड़ेप्रबुद्धजनोंनेकार्यक्रममेंबतायाकिमहिलाखुदकोसशक्तबनाकरसामाजिकविकासमेंसहयोगकरसकतीहैं।डिप्टीसिविलसर्जनडा.सुनीतासोखीमुख्यवक्ताकेरूपमेंपहुंची।वहींस्वास्थ्यविभागकेआशाकोआर्डिनेटरनरेंद्रखरब,आजीविकामिशनकेजिलाकार्यक्रमप्रभारीरणविजय¨सह,एयरलॉयनस्पो‌र्ट्सक्लबकीसचिवसुमनरानी,ट्रेजरकोमलरानीवकराटेखिलाड़ीप्रमिला,बॉ¨क्सगकोचहवा¨सहवक्तागणथे।¨जदगीसंस्थाकेअध्यक्षहरदीप¨सहनेमंचसंचालनकिया।उनकेअलावाआजीविकामिशनसेअमितमेडलवसोनियाआदिउपस्थितथे।सभीवक्तागणोंनेअपनेअपनेक्षेत्रसेजुड़ीअहमबातेंमहिलाओंकोबताईं।मुख्यवक्तासुनीतासोखीनेकहाकिमहिलाओंकोआजमानसिक,शारीरिकवआर्थिक,हरतरहसेसशक्तहोनेकीजरूरतहै।इसकेलिएउन्हेंहरक्षेत्रसेजुड़ीजानकारीरखनीचाहिए।महिलाकेहाथमेंघरकीबहुतबड़ीजिम्मेदारीहोतीहै।इसलिएवहइतनीसक्षमहोनीचाहिएकितमामजिम्मेदारियोंकोअपनेकंधेपरलेसके।

--स्वास्थ्यकेप्रतिजागरूकबनें:सुनीता

मुख्यवक्ताडा.सुनीतासोखीनेमहिलाओंकोविभिन्नस्वास्थ्यकार्यक्रमोंवखानपानकेबारेमेंबताया।उन्होंनेकहाकिमहिलाएंस्वास्थ्यकेप्रतिजागरूकबनें।साफसफाईवखानपानकाविशेषध्यानरखें।दवाईकोसेहतकाआधारनहींमाननाचाहिए।महिलाओंकोचाहिएकिवेपोषकआहारलें।गर्भावस्थामेंखानपानकाविशेषध्यानरखें।जरूरीनहींकिबाजारसेमहंगेप्रोडक्टखरीदकरखानेसेहीसेहतबनतीहै।बल्किगुड़,चना,खीरा,घीया,हरीसब्जियांखाकरभीशरीरकोपोषणदियाजासकताहै।तलीहुईचीजोंसेपरहेजकरें।खूबमात्रामेंपानीकासेवनकरें।कोल्ड¨ड्रकवफास्टफूडसेबचनाचाहिए।तीनसालसेपहलेदूसराबच्चापैदानकरें।इससेउम्रभरकेलिएशरीरकमजोरहोसकताहै।

--महिलाओंकेबगैरसमाजकीतरक्कीनहीं:रणविजय

महिलासमाजकाअभिन्नअंगहै।अकेलापुरुषसमाजतरक्कीकाआधारनहींहोसकता।समाजमेंसंपूर्णविकासकेलिएमहिलाओंकासशक्तहोनाबहुतजरूरीहै।आजमहिलाओंकोघरेलू¨हसाकेखिलाफआवाजबुलंदकरनेकीजरूरतहै।¨हसाकाअर्थसिर्फमारपीटनहीं,बल्किहरतरीकेकीप्रताड़नाहै।यदिकोईपुरुषअपनीपत्नीकोशब्दोंसेप्रताड़ितकरताहैतोवहभी¨हसाहै।

-रणविजय¨सह,जिलाप्रभारी,आजीविकामिशन।

--नियमितयोगकरेंमहिलाएं:सुमनरानी

महिलाएंअपनीसेहतकाख्यालरखें।वेयोगआदिकेजरियेस्वयंकोफिटरखसकतीहैं।इसकेअलावाउन्हेंअपनीबेटियोंकोभीआगेबढ़नेकामौकादेनाचाहिए।अपनीबेटियोंकोखेलोंमेंआनेदें।आजखेलोंकेजरियेरोजगारपायाजासकताहै।

--सुमनरानी,सचिव,एयरलॉयनस्पो‌र्ट्सक्लब।

--सफाईसेहीबीमारियोंकाबचाव:नरेंद्रखरब

यदिमहिलाएंचाहेंतोपरिवारकोस्वस्थरखसकतीहैं।घरमेंसारीसफाईव्यवस्थामहिलाकेहाथमेंहोतीहै।खानाबनातेसमयसफाईकाविशेषध्यानरखनाचाहिए।गंदेहाथोंसेखानापरोसनाबीमारियोंकीबड़ीवजहहै।इसलिएमहिलाओंकोचाहिएवेसाफसफाईकाविशेषध्यानरखें।यहधारणात्यागदेंकिबीमारियांभाग्यमेंलिखीहोतीहैं।

-नरेंद्रखरब,आशाकोआर्डिनेटर।

--इसकार्यक्रममेंहमेंकाफीकुछसीखनेकोमिलाहै।विभिन्नप्रकारकीजानकारियांमिलीहैं।दैनिकजागरणकायहअच्छाप्रयासथा।महिलारोगविशेषज्ञकेसाथसाथहमेंअन्यवक्ताओंसेभीकाफीकुछजाननेकोमिलाहै।

-¨पकी,भोडाहोशनाक।

--आजकेदौरमेंवास्तवमेंमहिलाओंकोहरतरीकेसेसशक्तहोनेकीजरूरतहै।सिर्फआर्थिकहीनहीं,बल्किशारीरिकवमानसिकरूपसेभीसशक्तबननाहोगा।इसकार्यक्रममेंइसविषयोंपरकाफीकुछसुननेकोमिलाहै।

-शर्मिला,बड़ोपल।

--आजमहिलाएंकिसीक्षेत्रमेंपीछेनहींहैं।लेकिनपुरुषप्रधानसमाजकीसोचबदलनेकीजरूरतहै।हमदेखतीहैंकिबहुतसारीमहिलाएंअपनारोजगारशुरूकरनाचाहतीहैं।लेकिनघरमेंउन्हेंअनुमतिहीनहींमिलपाती।ऐसीसमस्याओंकोखत्मकरनेकीजरूरतहै।

-कविता,रत्ताखेड़ा।

--समाजमेंबहुतसारीसमस्याएंहैं।आर्थिकसमस्याओंकेनिवारणमेंमहिलाओंकासहयोगजरूरीहै।महंगाईकेजमानेमेंयहबातसमझमेंभीआनेलगीहैकिअगरमहिलाघरमेंकमातीहैतोपुरुषपरजिम्मेदारियोंकोबोझकमहोजाताहै।

-रीना,फतेहपुरी।

लोगोंकीधारणाएंवाकईबदलनेलगीहै।अबयदिकोईमहिलास्वयंकारोजगारशुरूकरतीहैतोउसेसम्मानकीनजरसेदेखाजानेलगाहै।एकदशकपहलेमहिलाओंकोपुरुषोंपरहीनिर्भररहनापड़ताथा।अबमहिलाएंगांवोंमेंभीअपनेरोजगारचलारहीहैं।

-सोनिया,गाजूवाला।

आजमहंगाईवगरीबीजैसीसमस्याओंकेनिवारणकेलिएमहिलाओंकीभागीदारीबहुतजरूरीहै।महिलाएंहरक्षेत्रमेंआगेआरहीहैं।यहबातबहुतमहत्वपूर्णहैकिमहिलाओंकोहरतरीकेसेविकसितहोनाहोगा।अपनीसोचकोमजबूतबनानाहै।सेहतवरोजगारपरभीध्यानदेनाजरूरीहै।

-बलजीतकौर,रत्ताखेड़ा।

हरक्षेत्रमेंमहिलाओंकीसमानरूपसेभागीदारीहै।एकपरिवारकीजिम्मेदारीपुरुषसेज्यादामहिलापरहोतीहै।इसलिएयदिगृहणीआर्थिक,मानसिकवशारीरिकरूपसेसशक्तहैतोपरिवारपरसमस्याएंहावीनहींहोती।इसीविषयपरइसकार्यक्रममेंकाफीचर्चाहुईहै।

-सुमित्रा,रत्ताखेड़ा।

समाजमेंनारीकेप्रतिवाकईसोचबदलरहीहै।शिक्षितघरोंमेंदेखाजाताहैकिघरमेंबेटीजन्मलेतीहैतोबेटोंकीतरहखुशीमनाईजातीहै।यहबदलावऐसेकार्यक्रमोंकाहीपरिणामहै।दैनिकजागरणकायहअच्छाप्रयासहै।इससेसमाजमेंऔरकईबदलावआएंगे।

-संतोष,हांसेवाला।