कॉमन टेस्ट का रास्ता अभी है मुश्किल

मंजरीचतुर्वेदी॥नईदिल्लीआईआईटीऔरसरकारकेबीचसिंगलटेस्टपरभलेहीआपसीसहमतिबनगईहोलेकिनसरकारदेशभरमेंजोकॉमनटेस्टलागूकरनेकीबातकररहीथीउसकारास्ताअभीभीपूरीतरफसाफनहींहोपायाहै।आईआईटीकाउंसिलकीतरफसेआएसिंगलटेस्टकेफॉर्म्यूलेनेनसिर्फआईआईटीकीविशिष्टताकोबरकराररखाहैबल्किकईमायनोंमेंउसेऔरकड़ाबनायाहै।सरकारनेखंंींचेपैर:आईआईटीकीतरफसेसिंगलटेस्टकेप्रारूपकोलेकरहुएभारीविरोधकोदेखतेहुएसरकारनेआईआईटीकाउंसिलकीबैठकसेखुदकोदूररखाऔरमानवसंसाधनविकासमंत्रीकपिलसिब्बलमीटिंगमेंशामिलनहींहुए।मानाजारहाहैकिसरकारकीओरसेदबावबनानेऔरदखलंदाजीकेआरोपसेबचनेकेलिएसिब्बलनेयहकदमउठाया।हालांकि,सिब्बलनेकाउंसिलकेफैसलेकास्वागतकरतेहुएकहाकिहमनेएकबड़ीऔरसहीदिशामेंकदमबढ़ायाहैलेकिनअभीलंबासफरतयकरनाहै।आईआईटीकीश्रेष्ठता:मंत्रालयसेजुड़ेएकउच्चसूत्रकेमुताबिकसरकार2015सेदेशभरमेंकॉमनटेस्टमेंसमानतालानेकाजोलक्ष्यलेकरचलरहीथीउसमेंरुकावटआईहै।आईआईटीफिलहालअपनीश्रेष्ठतासेसमझौताकरनेकेलिएतैयारनहींहै।इतनाहीनहींएडवांसटेस्टकाप्रारूपऔरपेपर्सआदितैयारकरनेकीजिम्मेदारीभीआईआईटीकेपासरहेगी।आईआईटीसेजुड़ेसभीपक्षआएसाथ:आईआईटीकाउंसिलकीमीटिंगसेपहलेकाउंसिलनेआईआईटीफेडरेशनऔरसेनेटसेनएफॉर्म्यूलेपररायमशविराकियाऔरउनकीसहमतिलेली।गौरतलबहैकिसेनेटऔरफेडरेशनकीतरफसेविरोधहुआथा।आईआईटीहुआटफ:जानकारोंकामाननाहैकिनएफॉर्मेटसेआईआईटीमेंएडमिशनपानामुश्किलहोगाक्योंकिआईआईटीकेलिए12वींबोर्डकीमिनिममएलिजिबिलिटीजोफिलहाल60पर्सेंटहैवहआनेवालेवक्तमेंबढ़जाएगी।इतनाहीनहींयहहरसालबदलतीरहेगी।हालंाकिइसकेपीछेसरकारकामकसदहैकिबच्चे12वींबोर्डकेएग्जामकोभीपूरीगंभीरतासेलें।कोचिंगबढ़नेकीसंभावना:सिंगलटेस्टकेपीछेमकसदभलेहीस्टूडेंट्सकोकोचिंगकेमकड़़जालसेनिकालनारहाहै,लेकिनकईएक्सपर्टकामाननाहैकिजबतकआईआईटीजैसेसंस्थानोंकेलिएअलगफॉर्मूलाहोगातबतककोचिंगकादुष्चक्रनहींटूटेगा।एनआईटी,आईआईटीऔरअन्यकेंद्रीयसंस्थान:आईआईटीकाउंसिलकेबादआगामी4जूनकोएनआईटीकाउंसिलकीमीटिंगहोगीजिसमेंएनआईटीकेचयनकाफॉर्म्यूलातयहोगा।गौरतलबहैकि2013सेसिंगलटेस्टकेलिएइनसंस्थानोंकेअलावादेशकेकईराज्योंऔरडीम्डयूनविर्सिटीनेभीइसटेस्टकेप्रतिअपनीसहमतिदेदीहै।