कोल इंडिया का निजीकरण का विरोध

संवादसहयोगी,करगली(बेरमो):कोलइंडियाकोनिजीकरणकीओरधकेलेजानेकेखिलाफकेंद्रीयश्रमिकसंगठनोंकेआह्वानपरबुधवारकोसंयुक्तट्रेडयूनियनमोर्चाकेप्रतिनिधियोंनेबेरमोप्रखंडकार्यालयपरिसरमेंधरनादिया।इससेपहलेश्रमिकप्रतिनिधियोंनेकरगलीगेटस्थितगांधीचौकसेमोटरसाइकिलजुलूसनिकाला।यहजुलूसबेरमोप्रखंडकार्यालयस्थितधरनास्थलपहुंचकरसभामेंतब्दीलहोगया।बादमेंफुसरोस्थितनिर्मलमहतोचौककेसमीपकेंद्रसरकारकीनीतियोंकापुतलादहनकरलोकसभाअध्यक्षकेनामकाछहसूत्रीमांगपत्रबेरमोकेसीओमनोजकुमारकोसौंपागया।

इसदौरानकोलइंडियाजेबीसीसीआइसदस्यसहएटकनेतालखनलालमहतोनेकहाकिकोरोनासेउत्पन्नसंकटकेदौरानजबश्रमिकोंकेहितमेंफैसलेलिएजानेचाहिएथे,तबश्रमकानूनोंकोकमजोरकियागया।श्रमकानूनकेकईबिदुओंमेंसंशोधनकरदियागया।कोलइंडियाका31फीसदशेयरपहलेहीबेचाजाचुकाहै।अबउसेपूरीतरहनिजीकरणकीओरधकेलाजारहाहै।इसेबर्दाश्तनहींकियाजाएगा।मंदीकीबातकहकरकारपोरेटघरानोंकोफायदापहुंचानागरीबोंकीरोजी-रोटीसेखिलवाड़करनाहै।कहाकिकेंद्रसरकारपूंजीपतियोंकेइशारेपरकार्यकरतेहुएउनकीझोलीभरनाचाहरहीहै।आमजनोंकेहितसेइससरकारकाकोईसरोकारनहींहै।यहसरकारपूंजीपतियोंकासाथदेकरदेशकोपतनकीओरलेजारहीहै।

सीटूनेताभागीरथशर्मानेकहाकिकेंद्रकीमोदीसरकारकीमंशाकोयलाउद्योगकोनिजीहाथोंमेंबेचकरकोलइंडियाकेअस्तित्वकोसमाप्तकरनाहै।वर्तमानसरकारपूंजीपतियोंकीहिमायतीहै।कारपोरेटघरानोंकोलाभपहुंचानेकेलिएकिसानोंकोतबाहकरनेपरतुलीहुईहै।सभाकीअध्यक्षताचंद्रशेखरझानेकी।संचालनशिवनंदनचौहाननेकिया।मौकेपरचंद्रशेखरझा,सुजीतघोष,आरउनेश,रामेश्वरसाव,श्यामबिहारीसिंहदिनकर,विजयभोईं,गोवर्धनरविदास,चंद्रशेखरमहतो,मनोजपासवान,मंशुकालिदी,धर्मघासी,कुंजबिहारीप्रसाद,सूरजमहतो,बालेश्वरगोप,रघुवीरराय,श्रीकांतमिश्रा,शिवनंदनचौहान,राजेश्वरसिंह,पंचाननमंडलआदिमौजूदथे।