किसानों की मांगों को लेकर गंभीर नहीं सरकार : नैन

संस,गुहला-चीका:फसलकोनष्टकरनेकीबजायउसकीपैदावारबढ़ाकरहीआंदोलनतेजकियाजासकताहै।उक्तशब्दसरछोटूरामजनकल्याणट्रस्टकेमहासचिवदलबीरनैननेपत्रकारोंसेबातचीतकरतेहुएकही।उन्होंनेकहाकिकुछकिसाननेताओंद्वाराआंदोलनकेचलतेभावुकतामेंअपनीफसलकोआगलगाकरजलानेकीबातकहीहै,जोकिकिसीभीतरहउचितनहींकहींजासकती।उन्होंनेकहाकिआंदोलनकोतेजकरनेकेलिएकिसानोंकीऔरसेयहसरकारकोकेवलएकचेतावनीभराहै।उन्होंनेकहाकिराकेशटिकैतद्वाराइसप्रकारकीधमकीदिएजानेकाअभिप्रायहैकिकिसानसरकारकीचालोंकोकिसीकीमतपरकामयाबनहींहोनेदेंगे,चाहेउन्हेंअपनीखड़ीफसलभीनष्टक्योंनाकरनीपड़े।

टोलबेरियरपरपगड़ीसंभालकार्यक्रमगुहला-चीका:चीका-पटियालाहाइवेपरस्थितटटियानाटोलबेरियरपरचलरहाधरना62वेंदिनभीजारीरहा।धरनेकीअध्यक्षताहरबंससिंहनंबरदारनेकी।धरनेपरसुभाषभागल,सुखदेव,चमकौरसिंह,जसवंतनेसंबोधितकरतेहुएकहाकिशहीदेंआजमभगतसिंहकेचाचाअजीतकोश्रद्धांजलिअर्पितकरतेहुएपगड़ीसंभालकार्यक्रमआयोजितकिया।सुभाषभागलनेकहाकिचाचाअजीतसिंहद्वाराअंग्रेजीहुकूमतकेसमयकृषिकानूनोंकाविरोधकरतेहुएपगड़ीसंभालकानारादेकरजिसप्रकारसेहुकूमतकाविरोधकियागयाथा,उसीप्रकारआजभारतकेकिसानभाजपासरकारद्वारालागूतीनकृषिकानूनोंकेविरोधमेंआंदोलनचलाएहुएहैं।उन्होंनेकहाकिसरकारकिसानोंकीमांगोंकोपूराकरे।जबतकसरकारकिसानोंकीमांगोंकोपूरानहींकरेगीतबतकआंदोलनजारीरहेगा।