खुद होंगी सशक्त और श्रमिकों को देंगी संबल

प्रशांतसक्सेना,कन्नौज:अबस्वयंसहायतासमूहकीमहिलाएंमनरेगाकीकमानसंभालेंगी,जोखुदसशक्तहोकरश्रमिकोंकोसंबलबनाएंगी।समूहकीमहिलाओंकोमनरेगामें'मेट'बनायाजाएगा,जिनकाकामश्रमिकोंकोरोजानारोजगारउपलब्धकरानाहोगा।इससेसमूहकीमहिलाएंभीरोजगारसेजुड़ेंगी,जिन्हें320रुपयेप्रतिदिनकेहिसाबसेभुगतानकियाजाएगा।महिलामेटरोजगारसेवकोंकीतर्जपरकामकरेंगी,जोकच्चे-पक्केकार्योकाचयनकरमस्टररोलजारीकरश्रमिकोंसेकामकराएंगी।एकमेटमें20-20श्रमिकजोड़ेजाएंगे।इससेकामकेसाथश्रमिकोंकीसंख्याबढ़ेगी।रोजगारसेवकोंकीकमीहोगीपूरी

महिलामेटरोजगारसेवकोंकीकमीपूरीकरउनकीतर्जपरकामकरेंगी।इससेग्रामपंचायतोंमेंरोजगारसेवकोंकीजरूरतनहींपड़ेगी,जहांपदखालीहैंवहांरुकेकामकराएजाएंगे।जिलेमें499ग्रामपंचायतोंपर284रोजगारसेवकहैं।इसकारणशेषपंचायतोंमेंमस्टररोलजारीनहोनेसेश्रमिककामसेवंचितहैं।शासनस्तरसेमेटकाचयनमहिलामेटमेंसिर्फस्वयंसहायतासमूहकीमहिलाओंकोप्राथमिकतादीगईहै।इसलिएजिलेकेबजायशासनस्तरसेचयनकियाजारहाहै।समूहकीवहीसदस्यमहिलाएंचयनितकीजारहीहैं,जोकामकरतींआरहीहैं।जिलेमेंऐसी185महिलाओंकाचयनहोचुकाहै,जिन्हेंप्रशिक्षितभीकियाजारहाहै।28फीसदमहिलाश्रमिक

जिलेमेंकरीब80हजारजाबकार्डधारकहैं।वर्तमानमें16हजारश्रमिकमनरेगाकेकार्यकररहेहैं,जिनमें28फीसदमहिलाएंशामिलहैं।महिलामेटकामकसदमहिलाओंकोभीज्यादासेज्यादारोजगारदेनाहै।येहोंगेकार्यवजिम्मेदारी-शैक्षिकयोग्यताकक्षाआठपास-मोबाइलचलानेकीजानकारी-मोबाइलसेश्रमिकोंकीहाजिरीलगाना-मस्टररोलजारीकरनावएपपरफीडिग-महिलाओंकोप्रेरितकरकामकराना-टोलीकेअनुसारकामकालेआउटबनाना------------------------महिलाओंकोसशक्तबनानेपरसरकारकाजोरहै।महिलामेटसेमनरेगाकेकाममेंबढ़ोतरीहोगी।समूहकीमहिलाकेसाथश्रमिकोंकोरोजगारमिलेगा।श्रमिकमहिलाओंकीभागीदारीबढ़ेगी।-दयारामयादव,उपायुक्त(श्रमरोजगार)