कांग्रेस के खास हैं राजन, मोदी सरकार के धुर आलोचक

नईदिल्लीकांग्रेसकेपूर्वअध्यक्षलॉकडाउनकेकारणइकॉनमीकोहोरहेनुकसानकेबारेमेंजाननेकेलिएआजकलविशेषज्ञोंकेसाथबातकररहेहैं।इसीकड़ीमेंउन्होंनेसबसेपहलेआरबीआईकेपूर्वगवर्नररघुरामराजनसेवीडियोकॉन्फ्रेंसिंगकेजरिएबातकी।राहुलनेराजनका'इंटरव्यू'लेमोदीकोघेरा‘कांग्रेसकेकरीबी’यहपहलामौकानहींहैजबअर्थव्यवस्थाकीथाहलेनेकेलिएराहुलनेराजनकारुखकियाहै।उन्हेंयूपीएकाकरीबीमानाजाताहैऔरयूपीएकेदूसरेकार्यकालकेदौरानहीउन्हेंआरबीआईकागवर्नरबनायागयाथा।पिछलेसालआमचुनावोंसेपहलेऐसीअटकलेंथीकिअगरयूपीएसत्तामेंआईतोराजनकोवित्तमंत्रीबनायाजासकताहै।खुदराजननेभीकहाथाकिअगरउन्हेंबढ़ियामौकामिलताहैतोवहफिरसेभारतआनेकेलिएतैयारहैं।‘मोदीसरकारकेधुरआलोचक’मोदीसरकारनेराजनकोदूसराकार्यकालनहींदियाथाऔरवहअमेरिकालौटगएथे।राजनकेकार्यकालमेंमोदीसरकारने2016मेंनोटबंदीकाफैसलाकियाथाजिसकीकईअर्थशास्त्रियोंनेआलोचनाकीथी।खुदराजननेभीस्वीकारकियाथाकिनोटबंदीसेइकॉनमीकीरफ्तारढीलीपड़ीहै।उनकाकहनाथाकिजबसरकारनेइसबारेमेंउनकीरायपूछीथीतोउन्होंनेइसेखराबविचारबतायाथा।‘जीएसटीकीआलोचना’उन्होंनेमोदीसरकारकेएकऔरबड़ेआर्थिककदमजीएसटीकीभीआलोचनाकीथी।राजनइससमयअमेरिकामेंशिकागोविश्वविद्यालयकेबूथस्कूलऑफबिजनसमेंप्रोफेसरहैं।राजनमोदीसरकारकीआर्थिकनीतियोंकेआलोचकरहेहै।कईमौकोंपरवहखुलकरइससरकारकीनीतियोंकेप्रतिअपनीनाराजगीजाहिरकरचुकेहैं।‘न्यायकेसूत्रधार’पिछलेसालहुएआमचुनावोंमेंकांग्रेसनेअपनेघोषणापत्रमेंकहाथाकिअगरवहसत्तामेंआईतोन्यूनतमआययोजना(न्याय)लागूकरेगी।मानाजाताहैकिइसयोजनाकेसूत्रधारराजनहीथे।इसयोजनाकेतहतगरीबोंकोहरसाल72हजाररुपयेदेनेकावादाकियागयाथा।कांग्रेसनेकहाकिइससे5करोड़परिवारोंकोफायदाहोगा।