जूते-चप्पल सिलकर परिवार चलाने वाले की पत्नी ने जीता चुनाव, पहले मिले ताने अब मिल रही सराहना

फतेहपुर,[विनोदमिश्र]।मानलोतोहारहै,ठानलोतोजीत।किसीनेएकदमसहीकहाहै,लक्ष्यकितनाभीमुश्किलहो,लेकिनजज्बेऔरजुनूनसेसफलतामिलतीहीहै।कुछऐसाहीकरदिखायाहैगाजीपुरकस्बेमेंजूता-चप्पलसिलनेवालेहसनपुरनिवासीमोचीरामप्रसादने।उनकीपत्नीनेपंचायतचुनावमेंजीतहासिलकरकेयेसाबितकरदियाहैकिअगरजुनूनजज़्बाहोतोकुछभीहासिलकरनाअसंभवनहींहै।गांवमेंपहलेतानेदेनेवालेअबउसकीतारीफोंकेपुलबांधनेसेनहींथकरहेहैं।

फतेहपुरकेगाजीपुरकेहसनपुरगांवमेंपंचायतचुनावकीअधिसूचनाजारीहोनेकेबादवार्ड27शाहसीटअनुसूचितजातिकेलिएआरक्षितथा।इसपररामप्रसादकीपत्नीदिलसियानेभीनामांकनदाखिलकियाथा।इसपरगांवकेकईलोगोंनेउनकाउपहासभीउड़ायाथा।लेकिन,दंपतीनेतानोंसेहारनहींमानीऔरचुनावमेंलोगोंकोभरोसादिलाया।कईबारलोगोंनेप्रचारकेदौरानदूरियांभीबनाईं।अबदिलसियाने5,369मतपाकरअपनेप्रतिद्वंद्वीदुर्गेशकुमारको2,252वोटसेहराकरजीतहासिलकरलीहै।दुर्गेशको3117मतमिलेहै।

रामप्रसादबतातेहैं,पत्नी-बेटोंकीइच्छापूरीकरनेकोडेढ़सालपहलेहीचुनावप्रचारशुरूकरदियाथा।चुनावकीघोषणाहुईतोहोनेकेबादबेटेकेसाथबाइकसेगांवोंमेंघूमे।दिलसियाभीटेंपोलेकरप्रचारकरतीरहीं।22प्रत्याशीहोनेसेमुकाबलाभीकड़ाथाऔरतानेभीखूबमिले।दिलसियाकहतीहैं,लोगचुनावजीतकरगरीबोंकीसुविधाओंपरध्याननहींदेतेहैं।अबगांव-गांवगरीबोंतकपेयजल,सड़क,बिजलीजैसीसुविधाएंपहुंचानेकाकामकरेंगी।