जरूरतमंदों व मजलूमों के बड़े हमदर्द थे मुन्ना विधायक

लखीमपुर:तीनबारविधायकरहेनिरवेंद्रकुमारमिश्राउर्फमुन्नाजरूरतमंदोंवमजलूमोंकेबड़ेहमदर्दथे।जहांपरभीबातजरूरतमंदकीआती,वहींपरवेजात-पातवपार्टीकीराजनीतिकोछोड़करउनकेसाथखड़ेहोजातेथे।प्रतिबद्धतायहांतककिजरूरतमंदोंकेलिएआमरणअनशनतकपरबैठजातेथे।फिरचाहेजानपरहीक्योंनबनआएलेकिन,अनशनतभीतोड़तेथेजबउनकीमांगपूरीहोजातीथी।जरूरतमंदतबकेकेलोगउन्हेंअपनाहमदर्दमानतेभीथे।यहीवजहरहीकिवेलगातारतीनबारउसदौरमेंविधायकचुनेगए,जिसदौरमेंदल-बदलकेकारणसरकारतकस्थिरनहींहोपारहीथी।

उससमयजबरदस्तरामलहरथीलेकिन,इसचुनावतकमुन्नाकुछपरिपक्वहोचुकेथेऔरउन्होंनेमाहौलकोभांपकरपूरेचुनावकोअमीरबनामजरूरतमंदबनादियाथा।साथहीकरोड़पतियोंतुम्हेंचुनौतीहैमुन्नाकोहराकरदिखाओकानारादेकरनिर्दलीयचुनावजीताथा।हालांकिइसविधानसभाकाभीकार्यकालपूरानहींहोपायाऔरमध्यावधिचुनावकरानापड़ाथा।वर्ष1993मेंहुएचुनावमेंमुन्नातीसरीबारसपाकेटिकटपरचुनावजीतेथेऔरउससमयगन्नामंत्रीकेलिएउनकानामकाफीचर्चामेंथालेकिन,मुलायमसिंहकेचहेतेहोनेकेबादभीअंतसमयमेंमत्रिमंडलसेउनकानामहटगयाथा।उससमयतोमुन्नानेयहखूनकाघूंटपीलियाथालेकिन,उसकेबादफिर1996मेंजबचुनावहुआतोमुन्नानेइसकाकराराजवाबभीमुलायमसिंहकोदियाथा।उन्होंनेसपाकाटिकटलेकरभीसपाप्रत्याशीकेरूपमेंनामांकननहींकरायाथाऔरअंतिमदिननामांकनकरायाथाताकिपार्टीकिसीकोउम्मीदवारभीनबनासके।हालांकियहउनकेराजनीतिकजीवनकीभूलसाबितहुईऔरवेचुनावहारगएथे।उसकेबादसेहीउनकेराजनीतिककॅरियरकाअवसानशुरूहोगयाथा।उसकेबादभीमुन्नानेकईबारप्रयासकियालेकिन,चुनावमेंसफलतानहींमिलपाईथी।इसबीचउनकीसेहतभीकाफीखराबहोगईथी।उन्हेंबाईपाससर्जरीभीकरानीपड़ीथी।पिछलेकरीब10वर्षसेवहशांतऔरएकाकीजीवनबितारहेथे।