जिले को मिलेगा एक और महिला अस्पताल

जागरणसंवाददाता,औरैया:गर्भवतीमहिलाओंकोप्रसवकेलिएअबशहरसेबाहरनहींजानापड़ेगा।क्योंकियहांआधुनिकसुविधाओंसेयुक्त50शैय्याअस्पतालबननेकेलिएशासनकोप्रस्तावभेजागयाथा।शासनसेइसकीस्वीकृतिभीमिलगईहै।अबसिर्फजगहकीतलाशहै।जैसेहीजगहमिलतीहै।अस्पतालकानिर्माणशुरूकरादियाजाएगा।

शासनगर्भवतीमहिलाओंकेस्वास्थ्यपरविशेषध्यानदेरहाहै।इसीकेतहतशहरमेंमहिलाअस्पतालबनानेकोमंजूरीदीगईहै।यहअस्पतालअत्याधुनिकसुविधाओंसेलैसहोगा।विकासखंडकेकरीबएकसैकड़ागांवजिलाअस्पतालपरइलाजकेलिएनिर्भरहैं।इनगांवोंसेप्रतिमाहकरीब500से600गर्भवतीमहिलाएंप्रसवकेलिएआतीहैं।सुविधाएंनहोनेसेइनमेंसेकरीबआधीमहिलाओंकोयहांसेसंसाधनोंकाअभावबताकररेफरकरदियाजाताहै।अस्पतालमेंअत्याधुनिकसुविधाओंकाअभावहै।इसकेचलतेसामान्यसमस्याहोनेपरभीगर्भवतीमहिलाओंकोरेफरकरदियाजाताहै।आलमयहहैकिशहरमेंआशाओंकेमाध्यमसेगर्भवतीमहिलाओंकोनर्सिंगहोममेंभेजाजाताहै।नर्सिंगहोमसंचालकउनसेमोटीरकमवसूलकरतेहैं।अबइनसमस्याओंसेशहरवक्षेत्रकेबा¨शदोंकोजल्दहीछुटकारामिलनेकीउम्मीदहै।स्वास्थ्यविभागकीतरफसेशहरके50शैय्यामहिलाअस्पतालकासुझावशासनकोभेजागयाथा।शासनसेइसकीस्वीकृतिमिलगईहै।अबअस्पतालनिर्माणकेलिएजगहकीतलाशकीजारहीहै।जैसेहीजगहमिलजाएगी।अस्पतालकानिर्माणशुरूकरदियाजाएगा।स्वास्थ्यविभागकेजेईराजीवखन्नानेबतायाकिपीआइटीयोजनाकेतहतमहिलाअस्पतालबनायाजानाप्रस्तावितहै।जगहमिलतेहीकागजीकार्रवाईपूरीकरअस्पतालकानिर्माणशुरूकरादियाजाएगा।

सौशैय्याअस्पतालमेंबंद

पड़ामहिलाअस्पताल

चिचौलीमेंदोवर्षपूर्वमहिलाओंकेलिएअलगसे100बेडकाअस्पतालबनायागयाथा।भवनबननेकेबादनोएडाकीएकप्राइवेटसंस्थाकोइसकोसंचालितकरनेकीजिम्मेदारीदेदीगई।संस्थाकेलोगइसकोदेखनेआएऔरजल्दहीइसकोसंचालितकरनेकीबातकही।इसकेबादआजतकयहअस्पतालशुरूनहींहोसकाहैं।जबकिइसभवनकोकबूतरोंनेअपनाअड्डाबनालियाहै।