झूठे आंकड़ों के जरिये सिसोदिया ने की निगम की छवि धूमिल करने की कोशिशः मुकेश सुर्यान

नईदिल्ली[निहालसिंह]।फंडकोलेकरदक्षिणीदिल्लीनगरनिगमकेमहापौरमुकेशसुर्याननेउपमुख्यमंत्रीमनीषसिसोदियापरनिगमकीछविकोधूमिलकरनेकेआरोपलगाएहैं।उन्होंनेकहाकिअबतकआमआदमीपार्टी(आप)केनेताऔरविधायकनिगमोंकेऊपरअर्नगलआरोपलगारहेथेजिसपरजनतासेविश्वासनहींकियातोअबउपमुख्यमंत्रीकोनिगमपरआरोपलगानेकेलिएउतरनापड़ाहै।वहदिनदूरनहींजबखुदमुख्यमंत्रीनिगमकोबदनामकरनेकेलिएउतरेंगे।

जबकिदिल्लीसरकारनिगमकेलिएअभिभावकसरकारकीतरहहोतीहै।ऐसेमेंनिगमोंकीजरुरतकेहिसाबसेफंडजारीकरनेकीबजायनिगमोंकाफंडकाटाजारहाहै।सिविकसेंटरमेंप्रेसवार्ताकोसंबोधितकरतेहुएमुकेशसुर्याननेकहाकिउपमुख्यमंत्रीमनीषसिसोदियानेफंडकोलेकरझूठेआंकड़ेजारीकिएजबकिसच्चाईयहहैकिदक्षिणीनिगमकायोजनामदमें1482तोगैरयोजनामदमें708करोड़रुपयेबकायादिल्लीसरकारपरहै।इतनाहीनहींपांचवेवित्तीयआयोगकीसिफारिशोंकेअनुसारवर्तमानवित्तवर्षमेंनिगमकोयोजनामद878.10करोड़रुपयेकाअनुदानमिलनाथालेकिन,दिल्लीसरकारनेमात्र371.36करोड़रुपयेहीजारीकिएहैं।

जबकिगैरयोजनामदमें405.28करोड़रुपयेकीअपेक्षामेंमात्र246.05करोड़रुपयेहीजारीकिएहै।इतनाहीनहींतीसरेवित्तीयआयोगकीसिफारिशोंकेअनुसार2012सेलेकर2016तक427.69करोड़रुपयेकाबकायालेनेकेलिएकोर्टमेंमामलाविचाराधीनहै।स्थायीसमितिकेअध्यक्षलेफ्टिनेंटकर्नल(रि.)बीकेओबरायनेकहाकितीनोंनगरनिगमआर्थिकस्थितिखराबहोनेकीवजहसेअपनेकर्मियोंकोवेतनजारीनहींकरपारहेहैं।

फंडनहोनेकेकारणहमारीसभीयोजनाएंवविकासकार्यबाधितहोरहेहै।जबकिदिल्लीसरकारकोयहफंडजारीकरनाचाहिए।अबअपनेघरकेलिएपैसेनहींमांगरहेबल्किनिगमकेलिएफंडमांगरहेहैं।यहअतिरिक्तनहींहैबल्किजोबनताहैवहफंडहै।