जहां अपराधी को करते थे बंद वही 21 घंटों तक बंद रहे दरोगाजी

समस्तीपुर।कृत्यकिसकदरइंसानकापीछाकरताहै।इसकासीधाप्रमाणरोसड़ाथानेपरदेखनेकोमिला।सोमवारतकजिसथानामेंदारोगाश्रीनारायणसिंहकाधाकथा।रूआबथा।जिसथानाहाजतमेंदारोगाजीदर्जनोंअपराधीकोबंदकरतेथे,उसीहाजतमेंउन्हें21घंटेतकबंदरहनापड़ा।एकअपराधीकीतरहइतनेघंटोंतकहाजतकेअंदरगुजारनानिश्चितरूपसेकाफीकठिनरहाहोगा।रिश्वतलेनेकेआरोपमेंगिरफ्तारसबइंस्पेक्टरकोपुलिसअधीक्षककेआदेशपरथानाकेहाजतमेंबंदकरदियागयाथा।मंगलवाररातकरीब10.45बजेहाजतकेअंदरकियेगएदारोगाजीकोदूसरेदिनबुधवारकोसंध्या5.45बजेकेकरीबहाजतसेबाहरनिकालागयाऔरकांडकेअनुसंधानकत्र्तामुख्यालयडीएसपीकेनेतृत्वमेंपुलिसबलकेसाथनिगरानीकोर्टमुजफ्फरपुरकेलिएरवानाकियागया।इसबीचबुधवारकेदिनमेंरोसड़ापहुंचेपुलिसअधीक्षकमानवजीतसिंहढिल्लोंनेपुन:गिरफ्तारदारोगासेउक्तमामलेमेंपूछताछकी।कांडदर्जहोनेकेमहज24घंटेकेअंदरएसपीनेकांडकापर्यवेक्षणभीकरडाला।विदितहोकिउत्पादअधिनियमसेजुड़ेएककांडकेअभियुक्तबसंतकुमारकेघरसेउसकीबाइककालॉकतोड़करजबरनलेआनेतथाछोड़नेकेनामपर9हजार500रुपयाघूसलेनेकेआरोपमेंसबइंस्पेक्टरश्रीनारायणसिंहकोमंगलवारकीरातपुलिसअधीक्षककेआदेशपरगिरफ्तारकरलियागयाथा।एसपीनेछापेमारीकरउनकेआवाससेरिश्वतकीराशिभीबरामदकीथी।महजदोवर्षपूर्वरोसड़ाथानामेंयोगदानदेनेवालेश्रीनारायणसिंहकीसेवानिवृत्तिभीकरीब1वर्षबादहीहोनेवालीहै।रिश्वतखोरवभ्रष्टाचारीबख्शेनहींजाएंगेरिश्वतखोरपुलिसपदाधिकारीयापुलिसकर्मीकिसीकोबख्शानहींजाएगा।साक्ष्यमिलनेपरसभीकेविरुद्धसख्तकार्रवाईकीजाएगी।उक्तबातेंपुलिसअधीक्षकनेकही।वेपूर्वनिर्धारितकार्यक्रमकेतहतथानाकावार्षिकनिरीक्षणकरनेरोसड़ापहुंचेथे।थानाकेसभीअनुसंधानकर्ताकोअलग-अलगबुलाकरसंबंधितकांडोंकाजायजालेनेकेसाथएसपीनेसभीपदाधिकारियोंकोईमानदारीऔरकर्तव्यनिष्ठाकापाठपढ़ाया।साथहीकांडोंकेनिष्पादनमेंतेजीलानेकीभीनसीहतदी।मौकेपरमुख्यालयडीएसपीविजयकुमारकेअलावारोसड़ाथानाअध्यक्षइंस्पेक्टरसीतारामप्रसादसमेतस्थानीयपुलिसपदाधिकारीमौजूदरहे।