J-K: राहुल भट्ट की हत्या पर कश्मीरी पंडितों का फूटा गुस्सा, सरकार से सुरक्षा पर किया सवाल, हाईवे किया जाम

जम्मू-कश्मीरकेबडगाममेंएकतहसीलदफ्तरमेंअंदरघुसकरआतंकियोंनेराजस्वअधिकारीराहुलभट्टकीहत्याकरदी.उन्हेंगोलीमारीगई.अस्पतालमेंइलाजकेदौरानउन्होंनेदमतोड़दिया.इसहमलेकीजिम्मेदारीआतंकीसंगठनकश्मीरटाइगर्सनेली.

अबक्योंकिराहुलभट्ट एककश्मीरीपंडितथे,लिहाजाइलाकेमेंआक्रोशितलोगोंनेश्रीनगरहाइवेजामकरदिया. जोवीडियोसामनेआयाहैउसमेंक्यामहिला,क्यापुरुषसभीसड़कपरबैठविरोधप्रदर्शनकररहेहैं.न्यायकीमांगकीजारहीहै,कश्मीरीपंडितोंकीसुरक्षाकीगारंटीमांगीजारहीहै.मौकेपरपुलिसभीदिखीलेकिनआक्रोशितलोगोंनेसड़कनहींछोड़ी.सभीकोइसबातकागुस्साहैकिघाटीमेंलगातारकश्मीरीपंडितोंकोनिशानाबनायाजारहाहै.उनकीसुरक्षाकेलिएकोईपुख्ताइंतजामनहींकिएजारहे.

जम्मू-कश्मीरकेपूर्वमुख्यमंत्रीफारूखअब्दुल्लानेभीइसघटनापरनाराजगीजाहिरकी. फारूकअब्दुल्लानेआजतकसेफोनपरबातचीतकेदौरान कहाकिमैंएककश्मीरीपंडितकीहत्याकेबारेमेंसुनकरबहुतदुखीहूं.यहवारदातदूसरेलोगोंमेंभीडरपैदाकरेगी.सरकारविशेषरूपसेअल्पसंख्यकोंकोसुरक्षाप्रदानकरनेमेंपूरीतरहविफलरहीहै.पूर्वमुख्यमंत्रीनेमोदीसरकारपरनिशानासाधतेहुएकहाकिकश्मीरघाटीमेंसुरक्षाकीस्थितिबिगड़तीजारहीहैऔरसरकारकश्मीरकीनकलीगुलाबीतस्वीरपेशकरनेमेंलगीहै.कश्मीरमेंहालातठीकनहींहैं.

अबइतनागुस्साइसलिएदेखनेकोमिलरहाहैक्योंकिराहुलभट्टकीहत्याकेबादसेउसकापरिवारपूरीतरहअकेलारहगयाहै.बडगाममेंराहुलअपनीपत्नीऔरबेटीकेसाथरहताथा.वो2010सेघाटीमेंराजस्वविभागकेसाथजुड़ाहुआथा.उसेप्रधानमंत्रीस्पेशलएम्प्लॉयमेंटपैकेजकेतहतनौकरीमिलीथी.

यहांयेजाननाजरूरीहोजाताहैकिराहुलकापरिवारभी1990केदशकमेंघाटीछोड़चलागयाथा.जबकश्मीरीपंडितोंकेखिलाफबड़ेस्तरपरहिंसाहुईथी,तबउसकापरिवारभीअपनाआशियानाछोड़घाटीसेजानेकोमजबूरहुआथा.जबआजतकनेराहुलकेपितासेइसबारेमेंबातकी,वेभावुकहोगए.उन्हेंइसबातकीनाराजगीहैकिउन्होंनेअपनेबेटेकोवापसघाटीभेजा.

इसीवजहसेराहुलकीहत्यानेजमीनपरस्थितिकोतनावपूर्णबनादियाहै.अभीतकशांतबैठेकश्मीरीपंडितअबविरोधप्रदर्शनकररहेहैं.सोशलमीडियापरसरकारीदफ्तरोंमेंकामकरनेवालेकश्मीरीपंडितोंकोएकमैसेजभेजाजारहाहै.सभीसेकलशुक्रवारकोराज्यपालकेघरकेबाहरएकजुटहोनेकीअपीलकीगईहै.कहागयाहैकिसुबह10बजेसभीएकसाथआएंऔरअपनीमांगोंकोलेकरप्रदर्शनकरे.

अबबतायागयाहैकिकश्मीरपंडितसरकारनेकश्मीरमेंअपनेलिएसुरक्षाचाहतेहैं.इससुरक्षामेंवेअपनीरक्षाकेलिएबंदूकभीचाहतेहैं.अगरयेसंभवनाहोपाए,तोयेकश्मीरीपंडितवापसजम्मूजानाचाहतेहैं.वेखुदकोघाटीमेंसुरक्षितमहसूसनहींकररहेहैं.इसकेलिएवेवर्तमानसरकारकोभीजिम्मेदारमानरहेहैं.उनकाकहनाहैकिबीजेपीकश्मीरीपंडितोंकोकिएवादोंकोपूरानहींकरपाईहै.सड़कपरजोप्रदर्शनभीहुए,उनमेंपीएमनरेंद्रमोदीऔरगृहमंत्रीअमितशाहकेखिलाफनारेबाजीहोतीदिखी.

वैसेकश्मीरीपंडितजरूरसरकारकेखिलाफनारेबाजीकररहेहैं,लेकिनसरकारकोलगताहैकिपिछलेकुछसालोंमेंघाटीकेहालातमेंकाफीसुधारहुआहै.अनुच्छेद370हटनेकेबादतोआतंकीघटनाओंमेंकाफीकमीआगईहै. सक्रियआतंकियोंकीसंख्याभीमहज150रहगईहै.लेकिनसीआरपीएफकेमुताबिकइसट्रेंडमेंचिंताकाविषयये हैकि60फीसदीसेज्यादाकश्मीरीमूलकेआतंकीहैं,यानीकीवोस्थानीयहैं.वहीं85विदेशीमूलके आतंकीबताएजारहेहैं.