हलाल मांस की 'गंभीर आपत्तियों' पर कर्नाटक सरकार विचार करेगी: मुख्यमंत्री

बेंगलुरु,30मार्च(भाषा)कर्नाटककेमुख्यमंत्रीबसवराजबोम्मईनेबुधवारकोकहाकिराज्यसरकारहलालमांसकोलेकरउठाईगई‘गंभीरआपत्तियों’परविचारकरेगी।कुछदक्षिणपंथीसमूहोंनेइसतरहकेमांसकेबहिष्कारकीअपीलकीहै।मुख्यमंत्रीनेकहाकिजहांतकउनकीसरकारकासवालहैतोउसमें‘केवलविकासकोपंख’दिएगएहैं,औरकोईदक्षिणपंथयावामपंथनहींहै।हलालमामलेपरसरकारकेरुखकोलेकरपूछेगएसवालपरबोम्मईनेकहा''यह(हलालमामला)अभी-अभीशुरूहुआहै।हमेंइसकासंपूर्णतासेअध्ययनकरनाहोगा,क्योंकिइसकानियमोंसेकोईलेना-देनानहींहै।यहएकप्रथाहैजोजारीहै।अबइसकेसंबंधमेंगंभीरआपत्तियांउठीहैं।हमइन्हेंदेखेंगे।''हिंदूसंगठनोंद्वाराहलालमांसकेबहिष्कारकोलेकरअभियानचलानेकेसवालपरमुख्यमंत्रीनेकहाकिसरकारइसमसलेपरअपनारुखबादमेंबताएगी।उन्होंनेकहाकिहमेंपताहैकिकिसपरप्रतिक्रियाव्यक्तकरनीहैऔरकिसपरनहीं।मुख्यमंत्रीनेकहाकियदिजरूरतनहींपड़ी,तोसरकारकोईप्रतिक्रियाव्यक्तनहींकरेगी।‘वर्षादोदाकु’केपहलेकईदक्षिणपंथीसमूहोंनेहलालमांसकेबहिष्कारकीअपीलकीहै।‘उगादी’केबादइसदिनराज्यकेविभिन्नसमुदायमांसाहारीभोजकाआयोजनकरतेहैं।भाजपाकेराष्ट्रीयमहासचिवसीटीरविनेमंगलवारकोहलालभोजनको‘आर्थिकजिहाद’करारदियाथा।