गुजरात सरकार ने ग्रामीणों का 625 करोड़ रुपये का बकाया माफ किया

अहमदाबाद:गुजरातकीविजयरूपाणीकेनेतृत्ववालीभाजपासरकारनेमंगलवारकोग्रामीणक्षेत्रोंमेंरहनेवाले6लाखउपभोक्ताओंका625करोड़रुपयेकाबकायाबिजलीबिलमाफकरनेकाऐलानकिया.एकमुश्तसमाधानयोजनाकेतहतयहबकायामाफकियागयाहै.

मध्यप्रदेशऔरछत्तीसगढ़सरकारद्वाराविधानसभाचुनावमेंकिएगएवायदेकेअनुरूपएकदिनपहलेहीकृषिकर्जमाफीकेऐलानकेएकदिनबादगुजरातसरकारनेयहकदमउठायाहै.गांधीनगरमेंपत्रकारोंसेबातकरतेहुएगुजरातकेबिजलीमंत्रीसौरभपटेलनेकहाकिसरकारकीइसयोजनाकालाभउनलोगोंकोभीमिलेगाजिनकेखिलाफबिजलीचोरीकेमुकदमेदर्जहैंऔरउनकेबिजलीकनेक्शनकाटदिएगएहैं. इसयोजनाकेतहतग्रामीणक्षेत्रोंमेंरहनेवालेलोगकेवल500रुपयेकाभुगतानकरकेबिजलीकनेक्शनवापसलेसकतेहैं.

उन्होंनेकहाकि"बिजलीबिलोंकासमयपरभुगताननहींकरनेकोलेकरहमनेग्रामीणक्षेत्रोंमेंकरीब6.20लाखलोगोंकेबिजलीकनेक्शनकाटेहैं.इनबिजलीबिलोंकीबकायाराशिकरीब625करोड़रुपयेहै.अबहमारीसरकारनेफैसलालियाहैकिबकायाबिलोंकीयहराशिमाफकरदीजाए."

उन्होंनेकहाकिइसएकमुश्तसमाधानयोजनाकेतहतउपभोक्ताकेवल500रुपयेचुकाकरअपनेकृषि,घरेलूऔरवाणिज्यकबिजलीकनेक्शनवापसप्राप्तकरसकतेहैं.

राजकोटजिलेकीजसदनविधानसभासीटपर20दिसंबरकोहोनेवालेउपचुनावसेपहलेगुजरातसरकारकीयहघोषणासामनेआईहै.

बीजेपीनेबोलाकांग्रेसपरहमला,कहा-येदेशकमलनाथकीप्राइवेटलिमिटेडकंपनीनहीं