गुजरात: ग्लैमर की दुनिया का छोड़ चुनावी मैदान में उतरी सुपरमॉडल, सरपंच बनने के लिए मांग रही वोट

गुजरातकीग्रामपंचायतोंमेंइनदिनोंचुनावीमाहौलहै.राज्यकी6000पंचायतोंमेंचुनावहोनाहैजिसकेलिएचुनावप्रचारकाफीतेजचलरहाहै.इसीचुनावीमैदानमेंअबमुंबईकीएकमॉडलउतरीहैंऔरवहसरपंचबननेकेलिएअपनेगांवकेघर-घरजाकरवोटमांगरहीहैं.

छोटाउदयपुरजिलेकी संखेडातहसीलकेकावीठागांवमेंपहलीबारसरपंचपदकेलिएजनरलकेटेगरीकीमहिलासीटमिलीहै.मुंबईमेंमॉडलिंगकरनेवालीऐश्रापटेलइसीगांवकीरहनेवालीहैं,इसलिएअबवहसरपंचकेचुनावमेंहाथआजमानेउतरीहैं.मॉडलऐश्रापटेलकरीब100अलग-अलगब्रांड्सकेलिएमॉडलिंगकरतीहैं.

कोरोनाकालमेंदेखीगांवकीपरेशानी

चुनावमेंसरपंचपदकेलिएअपनापर्चादाखिलकरनेवालीऐश्रापटेलकाकहनाहै,लॉकडाउनमेंमैंनेकाफीवक्तअपनेगांवमेंबिताया.यहांकुछलोगोंकोकोरोनाहुआथा,उनकेपासनतोपैसेथेऔरनहीउन्हेंइससंक्रामकबीमारीकोलेकरकुछपताचलपारहाथा.तबमैंनेअपनीओरसेजितनीहोसकतीथी,उतनीइनकी मददकी.

तभीहोगालोगोंकाविकास

मॉडल ऐश्रानेबतायाकिइसगांवमेंज़्यादातरलोगसिर्फकिसानहैंऔरहररोजकिसीनकिसीसमस्यासेलड़तेरहतेहैं.यहदेखमैंनेसोचाकिइनकेलिएकुछकरनाचाहिएऔरअगरगांवकाविकासहोगातभीलोगकाविकासहोगा.

सरपंचकाकोईमैनेजमेंटनहीं

सरपंचपदकीउम्मीदवार काकहनाहै,मैंनेदुनियाकेकईदेशमेंघूमेहैं.दुनियातोकाफ़ीआगेबढ़गईहै,लेकिनमेरागांवआगेनहींबढ़ाहै.मुझेलगाकिइनलोगोंकेलिएकुछकरनाचाहिए,इसलिएमैंनेगांवकीमुखियाबननेकाफ़ैसलालियाहै.'उन्होंने बतायाकिगांवकेमौजूदासरपंचकाकोईमैनेजमेंटनहींहै,उसकाकामकोईऔरदेखताहै,ऐसेमेंविकासमेरीपहलीप्राथमिकताहैं.

घर-घरजाकरचुनावप्रचार

ऐश्रापटेलकाकहनाहै,'मैंचाहतीहूंकियहांगांवमेंहीबच्चोंकोअच्छीशिक्षामिले,यहांकेलोगोंकोसरकारीसभीयोजनाओंकाफ़ायदामिले.यहीनहीं,जिनलोगोंकोकामनहींमिलताहै,उन्हेंमनरेगाकेतहतरोज़गारप्राप्तहो.'मॉडलिंगकोछोड़ऐश्राअबअपनेगांवकाविकासकरनाचाहतीहैंऔरइसीउम्मीदमेंवहगांवकेलोगोंकेबीचघर-घरजाकरचुनावप्रचारभीकररहीहैं,औरउन्हेंउम्मीदहैकिगांवकेलोगउसपरजरूरभरोसाकरेंगे.