Gujarat: बिना शादी के पैदा हुए बच्चे के पिता का नाम बताना नहीं है जरूरीः हाईकोर्ट

अहमदाबाद,प्रेट्र।क्याएकमहिलापरअपनेबच्चेकेपिताकानामबतानेकेलिएदबावडालाजासकताहै,गुजरातहाईकोर्टनेयहसवालखड़ाकरतेहुएइसकेविरोधमेंअपनीरायजाहिरकीहै।हाईकोर्टनेकहाहैकिकिसीभीमहिलाकेलिए18सालकीउम्रसेपहलेबच्चापैदाकरनाकिसीतरहसेअवैधनहींहै।हाईकोर्टनेयहटिप्पणीगुजरातकेएकदुष्कर्ममामलेकीसुनवाईकरतेहुएकीहै।मामलेकीसुनवाईमेंजस्टिसपरेशउपाध्यायकीपीठनेसवालउठायाकिमहिलाकेलिएगर्भस्थशिशुकेपिताकानामबतानेकीमजबूरीकहांपरदर्जहै।अगरकोईअविवाहितमहिलादुष्कर्मकीशिकायतदर्जनहींकरातीहैऔरबच्चेकोजन्मदेनाचाहतीहै,तोउसेपिताकानामबतानेकेलिएकैसेबाध्यकियाजासकताहै।पीठनेयहबातनाबालिगसेदुष्कर्ममामलेमेंनिचलीअदालतसेदससालकेकठोरकारावासकीसजाकेखिलाफदायरयाचिकाकीसुनवाईकरतेहुएकहीहै।मामलाबच्चेकेसाथयौनदुराचरणअधिनियम(पोक्सो)काहै।

पीड़िताजूनागढ़जिलेकीरहनेवालीहै।उसनेबिनाविवाहकेदोषीकेसाथरहतेहुएदोबच्चोंकोजन्मदिया।दोनोंबच्चोंकेपितानेभीउन्हेंअपनाकहाहै।लड़कीनेकहा,उसनेअपनीइच्छासेपिताकाघरछोड़दियाऔरदोषीठहराएगएयुवककेसाथरहनाशुरूकरदियाहै।इसीदौरानउसनेदोबच्चोंकोजन्मदिया।पहलेबच्चेकोतबजन्मदिया,जबवहनाबालिगथी।हाईकोर्टकीपीठनेपूछा-वहगरीबग्रामीणलड़कीहै।अगरकोईअविवाहितमहिलाबिनाशादीकेगर्भवतीहोतीहैऔरवहअस्पतालजातीहै,तोक्याडाक्टरउससेउसबच्चेकेपिताकानामपूछसकताहै?

पीठनेकहा,वहनहींसमझतीकिमहिलाकोअपनेबच्चेकेपिताकानामबतानाजरूरीहै।किसीमहिलाकेलिएऐसीमजबूरीहोनाकहांदर्जहै?लड़कीकापहलाबच्चा29जून,2019कोहुआ,जबकिदूसराबच्चा22जनवरी,2021कोहुआ।लड़की24मार्च,2020को18सालकीहुई।अगलेदिन25मार्चकोउसकीशादीदोषीठहराएगएयुवककेसाथहोनीथी,लेकिनकोरोनासेबचावकेलिएलगेलाकडाउनकेकारणवहनहींहोसकी।जबकिदूसराबच्चाहोनेकेबादपहलेबच्चेकाहवालादेतेहुएलड़कीकेपितानेदुष्कर्मकीरिपोर्टदर्जकरादी।इसीरिपोर्टकेआधारपरयुवककोनिचलीअदालतनेसजासुनाईहै।