Electricity corporation: गोरखपुर के 70 हजार लोगों को मिलेगा 205 करोड़ का फायदा Gorakhpur News

गोरखपुर,जेएनएन।कोरोनाकालमेंबंदवाणिज्यिकप्रतिष्ठानोंऔरउद्योगोंकेमालिकोंकोबिजलीनिगमकोविड19एकमुश्तसमाधानयोजनाकेतहतराहतदेगा।इसमें70हजारउपभोक्ताओंको205करोड़रुपयेकीछूटमिलेगी।इसकेलिए31जनवरी2021तकपंजीकरणकरानाहोगा।

मार्चमेंलाकडाउनकेबादवाणिज्यिकप्रतिष्ठानऔरउद्योगबंदरहे,लेकिनबिजलीकाफिक्सऔरअन्यचार्जबढ़तेरहे।दुकानेंवउद्योगखुलेतोसभीनेसरचार्जमेंछूटकीमांगशुरूकी।मुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथकेनिर्देशपरबिजलीनिगमनेसमाधानयोजनाशुरूकरनेकानिर्णयलिया।70हजारउपभोक्ताओंपर620करोड़दोलाखरुपयेबकायाहै।इनमेंसेसरचार्जकेरूपमेंनिगम205करोड़30लाखरुपयेकमकरेगा।

तीसफीसददेनाहैपंजीकरणशुल्क

समाधानयोजनामेंवाणिज्यिक(एलएमवी2),निजीसंस्थान(एलएमवी4बी)औरऔद्योगिकश्रेणी(एलएमवी6)केउपभोक्ताओंकोफायदामिलनाहै।इसकेलिएनवंबरसेपहलेकेकुलबिलकातीसफीसदऔरनवंबरकेबादकापूराबिलजमाकरयोजनामेंआनलाइनपंजीकरणकरानाहोगा।28फरवरी2021तकहरहालमेंपूरीराशिजमाकरनीहोगी।इसअवधितकबिलकाभुगताननहोनेपरकमसेकमदोहजाररुपयेजब्तकरपहलेवालाबिलजारीकरदियाजाएगा।भुगतानआनलाइनकरनाहोगा।

बिलसंशोधनकाभीविकल्प

उपभोक्ताओंकोबिलमेंसंशोधनकाभीविकल्पदियागयाहै।अधिशासीअभियंताकोएकसप्ताहमेंबिलसंशोधितकरइसकीसूचनामैसेजकेजरियेउपभोक्ताकेमोबाइलनंबरपरदेनीहोगी।

बिजलीचोरीकरनेकेआरोपितोंकाभीपंजीकरण

समाधानयोजनामेंबिजलीचोरीकेआरोपमेंएफआइआरकासामनाकरनेवालोंकोभीशामिलकियाजाएगा।हालांकि,शमनशुल्ककीराशिमेंकोईकमीनहींकीजाएगी।स्थाईवि'छेदनवालेमामलोंकाभीसमाधानकियाजाएगा।

शुरूहुआपंजीकरण

बिजलीनिगमनेसमाधानयोजनाकीशुरुआतहोगईहै।सुबहहीकुछलोगपंजीकरणकेलिएनिगमकेकार्यालयोंपरपहुंचे।हालांकि,दोपहरतकसाफ्टवेयरमेंसमाधानयोजनाकाविकल्पनआनेसेअफसरभीपरेशानरहे।इसकेबादपंजीकरणकीशुरुआतहुई।मुख्‍यअभियंतादेवेंद्रसिंहकाकहनाहैकिवाणिज्यिक,औद्योगिकऔरनिजीसंस्थानोंकेउपभोक्ताओंकेहितमेंबिजलीनिगमनेसमाधानयोजनाशुरूकीहै।यहहैबकाया

वितरणमंडल           उपभोक्ता जमाहोगा बचतहोगी

गोरखपुरशहर           23304    10088    3002

गोरखपुरग्रामीणप्रथम   6777     3484     1727

गोरखपुरग्रामीणद्वितीय  6675     6143     3549

महराजगंज               9075     4753     2690

देवरिया                  12941    9961    5472

कुशीनगर                11229    7042    4089

कुल                     70001   41472   20530

नोट:जमावबचतकेआंकड़ेलाखरुपयेमेंहैं