दफ्तरों के चक्कर से मिलेगी ग्रामीणों को निजात

अमरोहा:ग्रामीणोंकोसरकारीयोजनाओंवबैंकसुविधाओंकीजानकारीकेलिएअबदर-दरभटकनेकीजरूरतनहींरहेगी।जीहां,गांवोंमेंबनरहेसचिवालयोंमेंहीउनकीसमस्याओंकासमाधानहोगा।जल्दहीग्रामसचिवालयोंकोऑप्टिकलफाइबरकेबिलसेजोड़ाजाएगा।इंटरनेटसुविधासेलैसहोनेकेबादउसमेंजनसेवाकेंद्रस्थापितहोगा।इसकेअलावाअधिकारियोंकेबैठनेकेदिननिर्धारितकिएजाएंगेताकि,ग्रामीणउनकेदफ्तरोंकेचक्करनलगाएं।

जनपदमें684ग्रामपंचायतहैं।सरकारनेप्रत्येकग्रामपंचायतमेंपंचायतभवननिर्माणकेनिर्देशअफसरोंकोदिएहैं।इसपरतेजीकेसाथकामचलरहाहै।करीब200ग्रामपंचायतोंमेंपहलेसेहीभवनबनेहुएहैं।उन्हेंमरम्मतकरदुरुस्तकियाजारहाहैजबकिकुछमेंनएभवनोंकानिर्माणचलरहाहै।इनपंचायतभवनोंकोसरकारनेग्रामसचिवालयकानामदियाहै।करीब18लाखरुपयेकीलागतसेएकपंचायतभवनबनायाजारहाहै।इसमेंमनरेगाकेअलावा15वेंवित्तआयोगकीधनराशिखर्चकीजारहीहै।

यहांबतादेंकिबैंककीहोयाफिरसरकारीयोजनाकी,हरजानकारीकेलिएग्रामीणदफ्तरोंवबैंकोंकीदौड़लगातेहैंलेकिन,ग्रामसचिवालयोंकीस्थापनाकेबादउनकीयहसमस्यादूरहोजाएगी।ग्रामसचिवालयकोइंटरनेटसुविधासेलैसकियाजाएगा।इसकोऑप्टिकलफाइबरकेबिलसेजोड़ाजाएगा।जिसमेंग्रामविकासअधिकारीवपंचायतसचिवदिननिर्धारितकरबैठेंगेऔरग्रामीणोंकीसमस्याओंकोसुनकरनिस्तारणकरेंगे।पंचायतभवननिर्माणकेलिएनहींमिलरहीजमीन

अमरोहा:सरकारकेआदेशपरहरग्रामपंचायतमेंपंचायतभवनबनायाजारहाहैलेकिन,221ग्रामपंचायतेंऐसीहैंजिनमेंभवननिर्माणकेलिएविभागकोजमीननहींमिलरहीहै।इसकेचलतेअभीतकउनमेंकोईकार्यशुरूनहींहोसकाहै।हालांकि,जिलाधिकारीउमेशमिश्रनेअफसरोंकोजमीनतलाशकरशीघ्रहीनिर्माणप्रारंभकरानेकेनिर्देशदिएहैं।ग्रामसचिवालयोंमेंइंटरनेटसुविधारहेगी।ग्रामीणअपनेगांवकेविकासकापूराब्योराजानसकेंगे।मनरेगामजदूरोंकीस्थितिभीपताचलजाएगी।कुछग्रामपंचायतोंमेंजगहनहींमिलीहै,इसलिएकामशुरूनहींहोपायाहै।उनमेंजगहतलाशीजारहीहै।

वाचस्पतिझा,डीपीआरओ।