दिल्ली सरकार पर बिफरे जामा मस्जिद के शाही इमाम, पूछा- शराब की दुकानें खुल सकती हैं तो इबादतगाहों में आम लाेगों लोगों की एंट्री क्यों नहीं?

नईदिल्ली[नेमिषहेमंत]।पुरानीदिल्लीस्थितजामामस्जिदकेशाहीइमामसैयदअहमदबुखारीनेदिल्लीमेेंकोरोनासेहजारोंलोगोंकीमौतोंकाजिम्मेदारदिल्लीसरकारकोबतातेहुएमुख्यमंत्रीकाइस्तीफामांगाहै।बुखारीइससेखासेनाराजहैकिसरकारनेशराबकीदुकानोंकोखोलनेकीइजाजततोदेदीहै।परइबादतगाहोंमेंलाेगोंकेप्रवेशपरप्रतिबंधलगारखाहै।उन्होंनेकहाकिदिल्लीसरकारउन्हींचीजोंकोखोलरहीहैजहांउसकाफायदाहोरहाहै।इसलिएसबसेपहलेशराबकीदुकानेंखुलवाकरवहांभीड़बढ़वादी।भलेहीइससेलोगोंकेघरतबाहहोरहेहो।परइबादतगाहोमेंआमलोगोंकेप्रवेशपरमनाहीहै।

उन्होंनेसवालकरतेहुएकहाकिअगरइबादतगाहोंमेंलोगोंकाप्रवेशनहींहैतोउन्हेंखोलनेकामतलबक्याहै।क्यासरकारलोगोंकोबेवकूफसमझरहीहै।सरकारपरहमलाजारीरखतेहुएबुखारीनेकहाकिजबसभीकोयहमालूमथाकिकोरोनाकीलहरआनेवालीहै,लेकिनदिल्लीसरकारनेकोईतैयारीनहींकी।जिसकेकारणआक्सीजन,बेडवदवाओंकीकमीकेचलतेहजारोंदिल्लीवालोेंकीजानेंगई।

यहींनहींअस्पतालोंमेंओपीडीसेवाबंदहोनेसेहार्ट,कैंसर,किडनीअौरलग्सकेमरीजकोसमयसेइलाजनहींमिला।मेडिकलआक्सीजनकीकिल्लतकोदूरकरनेकेलिएफैक्ट्रियोंकेआक्सीजनकोउपयोगमेंलायागया।उनवजहाेंसेभीकईलोगमरे।इनसभीमौतोंकाजिम्मेदारसरकारहै।

बुखारीकीयहतल्खटिप्पणीपुरानीदिल्लीकेमटियामहलसेविधायकशोएबइकबालकेउसबयानकेचंददिनबादआईहै,जिसमेंइकबालनेदिल्लीसरकारकोकोरोनासंक्रमितोंकोइलाजदेपानेमेंविफलबतातेहुएदिल्लीमेंराष्ट्रपतिशासनलगानेकीमांगकीथी।

वैसे,बुखारीऔरमुख्यमंत्रीकेरिश्तेपहलेसेसामान्यनहींबताएजातेहैं।वर्ष2015केदिल्लीविधानसभाचुनावमेंबुखारीनेमुसलमानोंकोआमआदमीपार्टी(आप)केपक्षमेंमतदानकीअपीलकीथी,जिसेतबआपनेखारिजकरदियाथा।