दिल्ली पुलिस को 'सम-विषम' फैसला नहीं पता

दिल्लीपुलिसनेरविवारकोकहाकिउसेराष्ट्रीयराजधानीमें1जनवरीसेएकदिनसिर्फ'सम'औरअगलेदिनसिर्फ'विषम'नंबरवालेवाहनोंकोचलानेकीअनुमतिदिएजानेकेदिल्लीसरकारकेफैसलेकीऔपचारिकसूचनानहींमिलीहै.

विशेषयातायातपुलिसआयुक्तमुक्तेशचंदननेकहा,'मैंइसपरटिप्पणीनहींकरसकता.इसपरकोईस्पष्टीकरणनहींमिलाहै.हमेंसिर्फमीडियाकीखबरोंसेयहजानकारीमिलीहै.'राजधानीमेंयातायातकाप्रबंधनदिल्लीयातायातपुलिसकरतीहै,लेकिनप्रदूषणमेंकमीलानेकेलिएगएसरकारकेफैसलेसेवहअवगतनहींहै.

दिल्लीसरकारकाफैसलादिल्लीमेंपंजीकृतकरीब95लाखवाहनोंपरलागू.यहफैसलारोजपड़ोसीराज्योंसेराजधानीमेंप्रवेशकरनेवालेलाखोंअन्यवाहनोंपरभीलागूहोगा.दिल्लीमेंरोजकरीबडेढ़हजारअतिरिक्तवाहनोंकापंजीकरणहोताहै.राज्यकेकुलवाहनोंमेंकरीब27लाखकारेंहैं.

केंद्रीयप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकेमुताबिक,दिल्लीकावायुगुणवत्तासूचकांक331है,जोकाफीबुराहै.301और400केबीचकेसूचकांकवालीवायुमेंअधिकसमयतकरहनेसेश्वाससंबंधीरोगपैदाहोनेलगताहै.चंदननेकहाकिऔपचारिकसूचनामिलनेपरहीइसबारेमेंकोईटिप्पणीकीजासकेगी.उन्होंनेकहा,'यदिकोईबैठकयाचर्चाहोयापत्रमिले,तोहमेंफैसलेकेविवरणमिलपाएंगे.'

दिल्लीसरकारनेशुक्रवारकोयहफैसलालियाकि1जनवरी2016सेराज्यमेंपंजीकरणसंख्याकेअंतिमअंक,सम(2,4,6,8,10)औरविषम(1,3,5,7,9)वालेवाहनअलग-अलगदिनचलेंगे.चीनकीराजधानीबीजिंगमेंभी2013मेंइसीतरहकाफैसलालियागयाथा.दिल्लीउच्चन्यायालयनेपिछलेदिनोंदिल्लीकोएकगैसचैंबरकीसंज्ञादेतेहुएकेंद्रऔरराज्यसरकारसेतत्कालउपचारात्मककदमउठानेकाआग्रहकियाथा.

एकअन्यपुलिसअधिकारीनेकहाकिफैसलेकोअमलीजामापहनानाकठिनहोगा.अधिकारीनेकहा,'दिल्लीकीसार्वजनिकपरिवहनव्यवस्थाइतनीमजबूतनहींहैकिसभीनागरिकोंकोसेवादेपाए.'एकअन्यपुलिसअधिकारीनेइसपरआश्चर्यजतायाकिबिनायातायातपुलिससेसंपर्ककिएआखिरराज्यसरकारनेयहफैसलाकैसेलेलिया.'