दिल्ली: नगर निगम के सफाईकर्मी बने कोरोना के सबसे बड़े शिकार, अबतक 49 की मौत

राष्ट्रीयराजधानीदिल्लीमेंकोरोनाकीदूसरीलहरनेडॉक्टर्ससेलेकरअध्यापकतक,हरवर्गकोअपनाशिकारबनाया.सबसेज्यादानगरनिगमकेकर्मचारीकोरोनाकाशिकारहुएहैं.मार्चमेंशुरूहुईकोरोनाकीदूसरीलहरमेंदिल्लीनगरनिगमकेकुल94कर्मचारियोंकीअबतककोरोनाकेकारणमौतहुईहै.इनमेंसे49कर्मचारीसफाईकर्मीथे.

जानकारीकेमुताबिकदिल्लीनगरनिगममेंलगभग50हजारसफाईकर्मचारीकामकरतेहैं.इनमेंसेकुछस्थायीहैंऔरकुछअस्थायी.दिल्लीमेंकोरोनामहामारीफैलनेकेबादसेहीयेसफाईकर्मीकचराउठानेकाकामकररहेहैं.नगरनिगमसेमिलेआंकड़ोंकेमुताबिकसबसेज्यादासफाईकर्मचारियोंकीमौतउत्तरीदिल्लीनगरनिगममेंहुईहै.उत्तरीदिल्लीनगरनिगमकेअलग-अलगविभागोंमें49कर्मचारियोंकीमौतहुईहै.इनमेंसे25सफाईकर्मचारीहैं.

साउथदिल्लीनगरनिगममें29मेंसे16सफाईकर्मचारियोंऔरपूर्वीदिल्लीनगरनिगममें16मेंसे8मौतेंसफाईकर्मियोंकीहुईहैं.सफाईकर्मियोंकेबादसबसेज्यादामौतेंस्वास्थ्यकर्मियोंकीहुईहैंजिनकीतादाद13है.इनमेंपांचडॉक्टरशामिलहैंजिनमेंसेदोदक्षिणनिकायकीस्वास्थ्यइकाइयोंमेंतैनातथे.एकपूर्वीएमसीडीकेस्वामीदयानंदअस्पतालमेंऔरहिंदूरावअस्पतालमेंचिकित्साकेप्रोफेसरऔरवरिष्ठमुख्यचिकित्साअधिकारीथे.

दिल्लीमेंसातमौतेंशिक्षाविभागकेलोगोंकीहैंजिनमेंसेकुछराशनवितरणमेंलगेहुएथे.उत्तरीदिल्लीनगरनिगमकेमेयरजयप्रकाशकीमानेंतोएमसीडीकीओरसेवेलफेयरफंडबनायाजारहाहैजिसकेतहतकोरोनामहामारीकेदौरानजिसभीकोरोनावॉरियरकीमौतकोरोनाकेकारणहुईहै,उसकेपरिवारकोपांचसे10लाखरुपयेकीसहायताराशिनगरनिगमकीओरसेदीजाएगी.

जयप्रकाशनेसाथहीकहाकिकोरोनाकेकारणजानगंवानेवालोंकेपरिवारकेएकसदस्यकोनौकरीभीदीजाएगी.एमसीडीकीतरफसेइनसफाईकर्मचारियोंकाडेटादिल्लीसरकारकोभीभेजाजारहाहैताकिदिल्लीसरकारकीतरफसे1करोड़रुपयेकामुआवजाभीइनकेपरिवारकोदियाजासके.दिल्लीसफाईकर्मचारीयूनियनकेइंचार्जराजेंद्रमेवातीकेमुताबिककचराउठानेजानेवालेसफाईकर्मचारियोंकेसुपरवाइजरकोसैनिटाइजेशनसेसंबंधितसामग्रीउपलब्धकराईजातीहै.

उन्होंनेकहाकिदिएजानेकेबावजूदज्यादातरलोगोंतकयेजरूरीसामाननहींपहुंचपाते.इनकीउचितव्यवस्थाहोनीचाहिए.राजेंद्रमेवातीनेसाथहीयहमांगभीकियाकिकोरोनाकेकारणजानगंवानेवालेहरसफाईकर्मचारीकोएकहफ्तेमेंएककरोड़रुपयेकामुआवजाऔरउनकेआश्रितोंकोस्थायीनौकरीदीजाए.ज्यादातरऐसाहोताहैकिएकयादोकोहीलाभदियाजाताहै.