दिल्ली में पीने लायक पानी मिलना बड़ी चुनौती, यमुना के बढ़ते प्रदूषण ने बढ़ाई चिंता

राजधानीदिल्लीमेंसाफपानीकीबड़ीसमस्याहै.सिर्फजगहबदलतीहैं,लेकिनगंदेपानीकीशिकायतसबजगहसमानरूपसेदेखने-सुननेकोमिलजातीहैं.इसकीएकबड़ीवजहयमुनानदीकावोगंदापानीभीहैजोसमयकेसाथनासिर्फऔरज्यादाविषैलाहोताजारहाहै,बल्किकईबीमारियोंकाकारणभीबनरहाहै.

अबइसप्रदूषितयमुनानदीकेबारेमेंसबकुछजाननेकेलिएवजीराबाद बैराजकारुखकरनाजरूरीहोजाताहै.यहीवोजगहहैजहांसेदिल्लीमेंयमुनानदीकीशुरुआतहोतीहैऔरउसकीमैलीहोनेकासिलसिलाभीशुरूहोजाताहै.नालोंकागंदापानीसीधेयमुनामेंगिरताहै,वहींफैक्ट्रीकारखानोंसेनिकलनेवालारासायनिकपदार्थभीयमुनानदीमेंहीछोड़े जाते हैं,ऐसेमेंप्रदूषणकास्तरभीबढ़जाताहैऔरनदीएकदमकालीदिखाईपड़तीहै.

दिल्लीमेंसाफपानीकीचुनौती

हैरानीकीबातयेभीहैकिदिल्लीमेंसाफपानीकेस्त्रोतकाफीकमहैं,ऐसेमेंयमुनानदीपरनिर्भरताजरूरतसेज्यादारहतीहै.यहीवजहहैकिदिल्लीजलबोर्डकेवाटरट्रीटमेंटप्लांटमेंइसपानीकोसाफकियाजाताहैताकिसाफपानीदिल्लीकोमिलसके.लेकिनबावजूदइसकेदिल्लीकेलोगोंकोसाफपानीनहीमिलपारहाहै.दिल्लीकेलोगपानीकेकारणलगातरकिडनी,लिवर,डायरियाजैसीबीमारियोंकाशिकारहोरहेहैं.

दिल्लीजलबोर्डकेसमरएक्शनप्लानकेमुताबिकबीते7महीनोंमेंदिल्लीजलबोर्डकोपानीकोलेकरलगभग23हजारसेज्यादाशिकायतेमिलीहैं.उसमेंभी1400सेज्यादासैम्पल्सकोक्वालिटीटेस्टकेलिएभेजागयाथा.परिणामबतातेहैंकि1400मेंसे668सैम्पलफेलहुएहैं.यानीलगभग47प्रतिशतपानीपीनेलायकनहींथा.

कोर्टनेक्याकहाथा?

पर्यावरणएक्सपर्टअनिलसूदबतातेहैंकि1995मेंकोर्टकीतरफसेएकआर्डरदियागयाथाकिइंडस्ट्रीसेनिकलनेवालेअनट्रीटेडपानीकोयमुनामेंडिस्पैचनहींकियाजाए.लेकिनउसआदेशकेबावजूदभीकईफैक्ट्रियोंनेनियमकासख्तीसेपालननहींकिया.इसकानतीजायेहुआकिअबयमुनाकापानीजरूरतसेज्यादाप्रदूषितहोचुकाहै.