ड्रग्स केस में 10 साल की सजा काट चुकी विदेशी महिला को दिल्ली हाई कोर्ट ने किया बरी

नईदिल्ली:दिल्लीउच्चन्यायालयनेनशीलापदार्थमामलेमेंएकविदेशीमहिलाकीदोषसिद्धिकोखत्मकरदिया.हालांकिमहिलानिचलीअदालतकेफैसलेकेअनुसार10सालजेलकीसजाकाटचुकीथी.विदेशीनागरिककोअपनेसामानमेंप्रतिबंधितपदार्थहेरोइनरखनेकेआरोपमें15अक्टूबर,2008कोयहांएयरपोर्टपरगिरफ्तारकियागयाथा.

नईदिल्ली:

हाईकोर्टनेनिचलीअदालतके2014केआदेशकेखिलाफदायरमहिलाकीयाचिकापर25अक्टूबरकोयहफैसलासुनाया.हालांकिफैसलासुनायेजानेसे10दिनपहलेमहिलासजापूरीकरचुकीथी.

न्यायमूर्तिसी.हरिशंकरनेकहाकिमहिलाएनाबेलाएनालिस्तामालीबागोतत्कालरिहाकिएजानेकीहकदारहै,जबतककिकिसीअन्यमामलेमेंउसकीगिरफ्तारीनहींहोती.

उच्चन्यायालयनेकहाकियहसाफहैकिसमूचीजांचऔरसुनवाईकेबादमहिलाकीदोषसिद्धिअभियोजनपक्षकीगवाहऔरशिकायतकर्ताअंजूसिंहकेएकमात्रतथ्यसेप्रभावितथी.शिकायतकर्ताराजस्वखुफियानिदेशालय(डीआरआई)द्वारादर्जमामलेमेंजांचअधिकारीभीथी.

अदालतनेउसकीअपीलकोस्वीकारतेहुएकहाकिमहिलाअपराधसेमुक्तकियेजानेकीहकदारहैजिसकेलियेनिचलीअदालतनेउसेदोषीकरारदिया.बहरहालनिचलीअदालतद्वाराअपनीदोषसिद्धिऔरसजाकोचुनौतीदेतेहुएमहिलानेउच्चन्यायालयमेंयाचिकादायरकीथी.