चुनावी मैदान में बचे 109 उम्मीदवार, बाप के खिलाफ बेटा और पति के खिलाफ पत्नी अब नहीं लड़ेगी चुनाव; 7 उम्मीदवारों ने वापस लिया पर्चा

कहतेहैंनराजनीतिमेंकुछभीसंभवहै।ऐसाहीनजारागोरखपुरमेंभीउसवक्तदेखनेकोमिला,जबयहांविधानसभाचुनावकानामांकनहोरहाथा।ग्रामीणविधानसभासीटसेसपाप्रत्याशीविजयबहादुरयादवकेबेटेविशालनेअपनेहीपिताकेखिलाफनामांकनकियाथातोसहजनवांसेबसपाउम्मीदवारसुधीरसिंहकीपत्नीअंजूसिंहनेअपनेपतिकेखिलाफतालठोंकीथी।लेकिनबुधवारकोयहां132प्रत्याशियोंमेंसे7नेअपनानामांकनवापसलेलिया।ऐसेमेंअबयहांचुनावीमैदानमें109उम्मीदवारहीशेषरहगएहैं।जिनकेबीचचुनावीजंगहोनीहै।

इनप्रत्याशियोंनेवापसलियानामांकन

दरअसल,गोरखपुरकी9विधानसभासीटोंपरकुल159प्रत्याशियोंनेनामांकनकियाथा।जिनमें32पर्चेनिरस्तहोगए,वहीं116पर्चेहीवैधपाएगए।हालांकिइनमेंकईप्रत्याशियोंनेअपनानामांकनखारिजहोनेकेडरसेअपनेहीपरिवारकेसदस्योंकानिर्दलीयनामांकनकरादियाथा।ताकिकिसीअप्रियस्थितिमेंभीवेचुनावलड़सकें।इनमेंग्रामीणप्रत्याशीविजयबहादुरयादवनेअपनेबेटेविशालयादवकानामांकनकरायाथा।

वहींसहजनवाप्रत्याशीसुधीरसिंहकीपत्नीअंजूसिंहनेभीनामांकनकियाथा।इसीतरहखजनीसेप्रत्याशीप्रशांतकेलिएशैलेशकुमार,पिपराइचसेसत्यमअग्रवाल,चौरीचौरासेप्रशांतसिंहऔरचिल्लूपारसेआलोककुमारगुप्तानेबुधवारकोअपनानामांकनवापसलेलिया।

सिलिंडरकेलिएनिकलीलॉटरी

इसकेसाथहीपर्चावापसीकेबादप्रत्याशियोंकेचुनावचिन्हआवंटितकरदिएगए।अबप्रत्याशी17फरवरीसेअपनेअपनेविधानसभाक्षेत्रोंमेंचुनावआचारसंहिताकापालनकरतेहुएप्रचारशुरूकरमतदाताओंसेअपनेपक्षमेंवोटमांगनेकीअपीलकरेंगे।वहीं,सदरविधानसभासेदोप्रत्याशियोंनेचुनावचिन्हसिलेंडरकीमांगकीथी।जिपपरलॉटरीनिकालागयाऔरएकप्रत्याशीकोचुनावचिन्हआवंटितकियागया।