चीन सीमा पर रहने वालों को मिलिटरी ट्रेनिंग देगी सरकार

नईदिल्लीभारतसरकारचीनसेलगीसीमापररहनेवालोंलोगोंकोमिलिटरीट्रेनिंगदेगी।सरकारकीकोशिशहैकिजम्मूऐंडकश्मीरऔरपूर्वोत्तरकेइलाकोंकीजनताकोइनक्षेत्रोंकीसुरक्षाऔरनिगरानीकाअहमहिस्साबनायाजाए।साथहीसरकारइनइलाकोंमेंज्यादासेज्यादालोगोंकोबसनेकेलिएप्रोत्साहितकरेगीऔरइसकेलिएबुनियादीसुविधाएंउपलब्धकराएगी।गृहमंत्रालयकेसूत्रोंकाकहनाहैकिसरकारसीमापररहनेवालोंकीअर्धसैनिकबलोंजैसीट्रेनिंगदेनाचाहतीहै।इमर्जेंसीहालातमेंउनसेसहयोगपानेकेलिएलोगोंकोहथियारोंकेइस्तेमालकीभीट्रेनिंगदीजाएगी।सरकारकायहकदमचीनकीओरसेलद्दाखकीपांगोंगझीलमेंअतिक्रमणकेबादआयाहै।गृहमंत्रालयकेएकवरिष्ठअधिकारीनेकहा,'सीमापररहनेवालेलोगसरकारकेआंख-कानहोतेहैं।वेकिसीभीआक्रमणकेखिलाफपहलीढालहोतेहैंक्योंकिवेवहांरहकरहरचीजपरनज़ररखतेहैं।दुनियाभरमेंसरकारेंलोगोंकोबोर्डरएरियामेंरहनेकेलिएप्रोत्साहितकरतीहैं।एकभारतहीहैजहांसंवेदनशीलताकेनामपरइसेबढ़ावानहींदियाजाता।'गृहराज्यमंत्रीकिरणरिजिजुकहचुकेहैंकिसीमाओंकोलोगोंसेदूररखनेकीपॉलिसीकोखत्मकरनाहोगाऔरअधिकसेअधिकलोगोंकोसीमासेलगेक्षेत्रोंमेंबसनेकेलिएप्रोत्साहितकियाजानाचाहिए।यहसरकारकेउसकदमकाहिस्साहैजिसकेतहतलोगोंकोबुनियादीसुविधाएंउपलब्धकराकरअरुणाचलऔरलद्दाखजैसेक्षेत्रोंमेंबसनेमेंउनकीमददकीजाए।इनलोगोंकोनिगरानीरखनेऔरसंघर्षकीस्थितिमेंखुदकोऔरसीमाकोबचानेकीट्रेनिंगदीजाएगी।पढ़ें:चीननेअबकश्मीरपरजताया'हक'ऐसाहीप्रयोगसीमासशस्त्रबल(एसएसबी)केद्वारासफलतापूर्वककियाभीजाचुकाहै।1963मेंएसएसबीकागठनभारत-चीनयुद्धकेबादसीमाक्षेत्रकेलोगोंमेंदेशकेप्रतिजुड़ावऔरउन्हेंकिसीआक्रमणकेखिलाफबेहतररूपसेतैयारकरनेकेलिएकियागयाथा।इसकेलिएलगातारमोटिवेशन,ट्रेनिंग,डिवेलपमेंटऔरवेलफेयरप्रोग्रामचलाएजातेरहे।यहअसम,बंगालवतत्कालीनयूपीकेउत्तरीइलाकों,हिमाचलप्रदेशऔरलद्दाखमेंशुरूकियागया।फिरइसकाविस्तारपूर्वोत्तरराज्योंकेसाथहीराजस्थानवगुजरातमेंकियागया।हालांकि2001मेंएसएसबीकोनेपालबोर्डरपरतैनातकरदियागयाऔरसमयकेसाथयहपरंपरासमाप्तहोगई।अरुणाचलप्रदेशकेकईइलाकोंमेंआबादीबिल्कुलनहींहै।इनक्षेत्रोंमेंआईटीबीपीकेजवान21किलोमीटरतकजरूरीरसदलेकरपट्रोलिंगकरतेहैं,क्योंकिबोर्डरकेकिनारेकोईगांवनहींहैंऔरनहीकोईसड़कहै।अगरइनक्षेत्रोंमेंलोगआकरबसतेहैंतोइनसमस्याओंसेबचाजासकताहै।गृहमंत्रालयकेअधिकारीनेकहा,'वैसेइसकेलिएसबसेपहलेइनइलाकोंमेंबुनियादीसुविधाएंउपलब्धकरानीहोंगी।21वींसदीमेंकोईसड़क,बिजलीऔरसंचारकीसुविधाकेबिनाकैसेरहेगा।'