बजट में टर्नओवर के अनुसार ही जीएसटी का हो निर्धारण

जागरणसंवाददाता,कानपुरदेहात:लॉकडाउनकेबादसभीउद्योगोंपरप्रतिकूलप्रभावपड़ाहै।केमिकलउद्योगभीइससेअछूतानहींरहाहै।केमिकलकेदामोंमेंहुईबढ़ोत्तरीसेउत्पादनपरभीअसरपड़ाहै।वहींटैक्ससेभीउद्यमीउबरनहींउबरनहींपारहेहैं।आगामीबजटसेकेमिकलउद्योगसेजुड़ेउद्यमीसकारात्मकउम्मीदलगाएंहैं।इसकेसाथहीटर्नओवरकेअनुसारजीएसटीस्लैबकानिर्धारणउद्यमीचाहतेहैं।कोरोनामहामारीकालमेंजहांप्रतिकूलप्रभावपड़ाहै।वहींअंतर्राष्ट्रीयस्तरपरनईसंभावनाएंभीतैयारहुईहैं,जिससेनएस्टार्टअपभीतैयारहोरहेहैं।इसदौरानकेमिकलकेदामोंमेंबड़ेस्तरपरबढ़ोत्तरीहुईहै।इससेउत्पादनपरबुराप्रभावपड़ा,जबकिछोटेउद्योगमंदीकीमारझेलरहेहै।बिक्रीप्रभावितहोनेसेउद्यमियोंकोसमस्याओंसेजूझनापड़रहाहै।इसकेसाथहीस्थानीयस्तरपरभीट्रांसपोर्टसहितअन्यइंफ्रास्ट्रक्चरनहोनेसेभीउद्योगोंपरबुराप्रभावपड़रहाहै।उद्यमीचाहतेहैंकीबजटमेंसरकारछोटेउद्योगपतिकेलिएभीकुछकरे।सूक्ष्मलघुएवंमध्यमउद्योगोंकोबढ़ावादेनेकेलिएसरकारकीओरसेविशेषपैकेजदियाजाएतोलॉकडाउनकेदौरानकेमिकलउद्योगकीमंदरफ्तारकोगतिमिलसकेगी।इंसेटनिर्यातकोंकेलिएबजटमेंहोपैकेज

आइआइएकेराष्ट्रीयसचिवसुनीलपांडेयबतातेहैंकिपिछले25सालोंमेंकेमिकलकेदाममेंइतनीबढ़ोत्तरीनहींहुईजोलॉकडाउनकेबादहुईहै।इससेसूक्ष्मलघुएवंमध्यमउद्योगपरबुराप्रभावपड़ाहैऔरउत्पादनभीप्रभावितहुआहै।बजटमेंसरकारकोनिर्यातकोंपरभीध्यानदेनेकीआवश्कताहै।ऐसेसमयमेंसरकारसहयोगकरेतोदूरगामीपरिणामबेहतरहोंगे।उन्होंनेबतायाकिउद्यमियोंसे18फीसदजीएसटीकेरूपमेंलियाजारहाहै,जबकि30फीसदआयकरभीदियाजारहा।सरकारकोकरीब50फीसददेनेकेबादसरकारसेसहूलियतनहींमिलरहीहै।इंसेटबैंकसेलगनेवालेब्याजमेंमिलेराहत

उद्यमीराजीवमहेश्वरीनेबतायाकिटैक्सकोलेकरसरकारकोबजटमेंविशेषराहतदेनीहोगी।तभीउद्योगोंकीस्थितिमेंसुधारहोगा।मौजूदासमयमेंसभीसेएकसमान18फीसदजीएसटीलियाजाताहै।इससेछोटेउद्यमियोंकोनुकसानहोरहाहै।टर्नओवरकेअनुसारसरकारजीएसटीस्लैबकानिर्धारणकरेतोबड़ीराहतमिलेगी।पांचकरोड़वालेसेपांचफीसदजीएसटीव10-15करोड़काटर्नओवरकरनेवालेउद्यमीसे10-12फीसदजीएसटीलेनाचाहिए।इसकेसाथहीबैंकमेंसमयसेपेमेंटकरनेवालेउद्यमियोंकोब्याजमेंभीराहतदेनेकेलिएसरकारकोविचारकरनाहोगा।