बीजेपी एनर्जी नहीं, स्ट्रैटिजी के हक में

धनंजयनईदिल्ली:बीजेपीनेएनर्जीसिक्युरिटीकेमुकाबलेसैनिकपरमाणुकार्यक्रमकोअधिकमहत्वदेतेहुएमनमोहनसिंहसरकारऔरअमेरिकाकेइसअनुरोधकोठुकरादियाहैकिवहभारत-अमेरिकासमझौतेकासमर्थनकरे।बुधवारकोयहांबीजेपीकेकोरग्रुपकीबैठकहुई,जिसमेंअध्यक्षराजनाथसिंहऔरलालकृष्णआडवाणीभीमौजूदथे।सूत्रोंकेअनुसारआडवाणीऔरयशवंतसिन्हानेसमझौतेकासबसेज्यादाविरोधकिया।उन्होंनेकहाकिभारतकेआसपासजोमाहौलहै,उसेदेखतेहुएपरमाणुविस्फोटकीआजादीकात्यागनहींकियाजासकता।इसलिएअमेरिकासेसमझौतेपरनएसिरेसेविचारकियाजानाचाहिए।इधरकुछसमयसेबीजेपीपरभारीदबावथाकिवहसमझौतेपररायबदले।मंगलवारकोराष्ट्रीयसुरक्षासलाहकारएम.के.नारायणनऔरपरमाणुऊर्जाआयोगकेअध्यक्षडॉ.अनिलकाकोडकरनेआडवाणीऔरराजनाथसेभेंटकरयहीअनुरोधकियाथा।अमेरिकीराजदूतमलफर्डऔरपूर्वविदेशमंत्रीडॉ.हेनरीकिसिंजरनेभीआडवाणीसेभेंटकरकहाथाकिपरमाणुसमझौताभारतकेहितमेंहै।इसकेबादएनडीएसरकारमेंराष्ट्रीयसुरक्षासलाहकारब्रजेशमिश्रनेनरमबयानदेकरबीजेपीपरपड़रहेदबावकोबढ़ादिया।मिश्रनेकहाथाकियहगारंटीहोकिसमझौतेसेभारतकेसामरिककार्यक्रमपरअसरनहींपड़ेगातोमैंव्यक्तिगततौरपरउसकासमर्थनकरसकताहूं।बैठकमेंन्यूक्लियरडीलपरब्रजेशमिश्रकीसलाहपरभीचर्चाहुई।कुछनेताओंनेकहाकिनौकरशाहोंमेंन्यूक्लियरटेस्टपररोकजैसेमसलेकोसमझनेकीक्षमतानहींहोती।इसकेलिएगहरीराजनीतिकदृष्टिचाहिए।बैठकमेंवेंकैयानायडू,सुषमास्वराज,रविशंकरप्रसाद,अरुणशौरी,एस.एस.अहलूवालियाऔरअनंतकुमारनेभीभागलिया।आडवाणीनेबैठकमेंकहाकिवैमनस्यपूर्णपड़ोसीमाहौलकेमद्देनजरभारतकेलिएन्यूनतमविश्वसनीयन्यूक्लियरप्रतिरोधकक्षमताहासिलकरनासबसेअहमसवालहै।मौजूदाडीलभारतकीइसजरूरतकीपूरीतरहसेअनदेखीकररहीहै।एनडीएकेसमयजोन्यूनतमविश्वसनीयन्यूक्लियरप्रतिरोधकक्षमताहासिलहुई,उसेयूपीएसरकारखत्मकरनेपरतुलीहुईहै।सूत्रोंकेअनुसारपूर्वविदेशमंत्रीयशवंतसिन्हानेकहाकिभारतकेलिएन्यूक्लियरटेस्टकीआजादीसबसेमहत्वपूर्णमसलाहै।न्यूक्लियरएनर्जीकासवालसेकेंडरीहै।हमभारतकीस्ट्रैटिजिकसिक्युरिटीकेसवालपरसमझौताकरनेकाजोखिमनहींउठासकते।एकनेतानेकहाकिअमेरिकीराजनयिकोंकीकोशिशकेबादपार्टीनेअमेरिकावसरकारकोयहसंकेतदेनाजरूरीसमझाकिडीलकोलेकरपार्टीमेंकोईमतभेदनहींहै।उन्होंनेकहाकिपार्टीकोयहभीकोफ्तहोरहीहैकियहडीलयूपीएसरकारवअमेरिकाकेबीचहुईहै।इसमेंबीजेपीकोइसतरहघेरनेकीक्याजरूरतहै।यूपीएसरकारतयकरेकिडीलकरनीहैयानहीं।बैठकमेंइसबातकोरेखांकितकियागयाकिपाकिस्तान,बांग्लादेश,नेपालऔरबर्माकीमौजूदास्थितिकोदेखतेहुएभारतकेलिएएनर्जीकीजगहसामरिकसुरक्षाकासवालसबसेमहत्वपूर्णहोगयाहै।चारोंतरफकेमाहौलकोदेखतेहुएभारतअपनीसुरक्षाकेप्रतिउदासीनभावअख्तियारनहींकरसकताहै।